Breaking News:

ये है भारत की बदलती तस्वीर… हुआ साफ़ साफ़ एलान- “इधर से कांवड़ निकली तो पीट पीट कर होगी हत्या”

ये हमारा इलाका है तथा अगर इधर से कांवड़ निकाली गयी तो कांवड़िया की पीट पीट कर हत्या कर दी जायेगी. यही एलान किया गया है मजहबी उन्मादियों के द्वारा तथा सीधी चुनौती दी है हिन्दू समाज को व कानून को भी. ये घटना बांग्लादेश, पाकिस्तान या अफगानिस्तान की नहीं है बल्कि हिंदुस्तान के ही शहर बरेली की है जहाँ  मजहबी उन्मादियों द्वारा कांवड़ निकालने वाले की पीट पीट कर हत्या करने की धमकी दी गयी. उन्मादियों की इस धमकी के बाद कांवड़ नहीं निकाली जा सकी जिसके बाद ये सवाल जरूर उठ खडा होता है कि कहीं ये “गज़वा ए हिन्द” की आहट तो नहीं है ?

मामला उत्तर प्रदेश के बरेली के बिथरी के उमरिया गाँव का है. आपको बता दें कि सावन में सोमवार का मौका निकलने के बाद गुरुवार को तेरस के मौके पर उमरिया गांव के रास्ते से कांवड़ निकालने की विश्व हिन्दू परिषद, बजरंग दल, हिन्दू जागरण मंच समेत तमाम हिन्दू संगठनों के लोग खजुरिया पहुंचे. हिन्दू संगठन के कार्यकर्ताओं ने कांवड़ियों के साथ मिलकर कांवड़ यात्रा निकालने की तैयारी शुरू कर दी. थोड़ी देर बाद विधायक पप्पू भरतौल गांव पहुंचे और अपनी कार और एक ड्राईवर कांवड़ियों को देकर वापस लौट गए. जानकारी मिलने पर पुलिस पहुँची तथा कांवड़ियों से बात करके सात लोगों को उमरिया से कांवड़ निकालने की तैयारी शुरू कर दी.

इसके बाद पुलिस ने उमरिया के प्रधान से बात की उसने कांवड़ यात्रा निकलने देने से साफ़ इनकार कर दिया. उसका कहना था कि यदि कांवर वहां से निकल गई तो गांव के लोग उसे पीट-पीटकर मार डालेंगे. ऐसे में दोनों गांवों के बाहर पुलिस तैनात कर दी गई. पुलिस ने लाख समझाया लेकिन उन्मादियों ने कांवड़ नहीं निकलने दी तथा मरने मारने की धमकी पर अड़े रहे. हालात को देखते हुए रात में एसपी सिटी, एसपी क्राइम, सीओ थर्ड समेत कई थानों का फोर्स और पीएसी मौके पर मौजूद रही. रात नौ बजे के लगभग एडीजी प्रेम प्रकाश खुद खजुरिया गांव पहुंचे और सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया लेकिन उन्मादी नहीं माने तथा अंत में कांवड़ यात्रा नहीं निकाली जा सकी.

Share This Post