बेरहमी से पीटा गया वो पादरी जो आया था हिंदुओंको विधर्मी बनाने… सतर्क थे हिन्दू दल

विधर्मी ताकतें चारौ तरफ से हिंदुत्व पर वार कर रही हैं तथा हिंदुत्व को तोड़ने के हिंदुत्व को मिटाने के प्रयासों में लगी हुई हैं. कभी लव जिहाद तो कभी जबरन धर्मांतरण तो कभी लालच देकर हिन्दुओं का परिवर्तन कराना और पता नहीं कितने तरीके से हिंदुत्व पर प्रहार किये जा रहे हैं. इसी बीच पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ के सरधना में मंगलवार को धर्म परिवर्तन की बड़ी साजिश का पर्दाफाश हुआ. समय रहते बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने एक पादरी को हिन्दुओं का धर्मान्तरण कराते हुये दबोच लिया और जमकर कुटाई कर दी.  सूचना पर पहुंची पुलिस ने पादरी को गिरफ्तार कर लिया. पैसा देकर धर्म परिवर्तन का खुलासा होने पर हड़कंप मच गया.

खबर के मुताबिक़, चर्च के पादरी पर आरोप है कि वह पैसे का लालच देकर 14 लोगों को खतौली इलाके में गुपचुप ढंग से धर्म परिवर्तन करा रहा था.  इसी बीच जब हिन्दूवादी संगठन बजरंग दल कार्यकर्ताओं को सूचना मिली कि मुल्हेड़ा स्थित सेंट थॉमस चर्च के पादरी और एक अधिवक्ता मिलकर हिन्दुओं के धर्म परिवर्तन करने की नोटरी करा रहा है. इसी सूचना पर बजरंग दल के संयोजक मिलन सोम के नेतृत्व में कुछ कार्यकर्ता मौके पर पहुंचे. जब नोटरी की पड़ताल की तो उनमें धर्म परिवर्तन की बात लिखी मिली. इसी बात को लेकर हंगामा हो गया. कार्रयकर्ताओं ने मौके पर ही पादरी की पिटाई कर दी.

धर्म परिवर्तन के मामले का पता चलते ही पुलिस में हड़कंप मच गया. पुलिस ने पादरी को हिरासत में लिया और थाने ले आई. बजरंग दल के संयोजक मिलन सोम की तहरीर पर पुलिस ने पादरी दीपेंद्र प्रकाश के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है. पुलिस पादरी से पूछताछ में जुटी है. एसडीम सरधना राकेश कुमार ने बताया कि इसाई मशीनरी द्वारा सेवा के नाम पर लालच देकर गरीब हिंदुओं का धर्मांतरण कराया जा रहा था. आरोपी पादरी के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. पुलिस उससे पूछताछ कर रही है तथा ऐसी घटना बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

Share This Post