तुझे घर में तब ही घुसने देंगे जब तू गारंटी देगी कि तेरे बेटी पैदा नहीं होगी…

उस मुलिम महिला की सिर्फ इतनी सी खता थी कि उसने एक बेटी को जन्म दिया था. बेटी को जन्म देने के बाद वह काफी खुश थी तथा सोच रही थी कि उसका शौहर व बाकी घरवाले भी काफी खुश होंगे. लेकिन शायद वो नहीं जानती थी कि एक बेटी को जन्म देना उसके जीवन में तबाही लाने वाला था. बेटी को जन्म दिए हुए १ सप्ताह भी नहीं हुआ था कि उसके शौहर ने उसे तीन तलाक देकर मारपीट करके घर से निकाल दिया.

एकतरफ सरकार बेटियों के लिए तमाम तरह की योजनाएं चला रही है वहीं समाज में कुछ ऐसे भी लोग हैं जो बेटी को जन्म देने के कारन अपनी पत्नी को तलाक देकर घर से निकाल देते हैं. दरअसल मामला जनपद शामली के कैराना कोतवाली क्षेत्र का है. यहां सहारनपुर के गंगोह की रहने वाली गुलिस्ता की शादी करीब डेढ़ वर्ष पूर्व कैराना निवासी युवक शाहिद से हुई थी. आरोप है कि शादी के बाद से ही शाहिद व उसके परिजन गुलिस्ता को दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे. इसके बाद भी जैसे तैसे करके गुलिस्ता शाहिद के घर में अपने दिन गुजार रही थी. अब से करीब 1 सप्ताह पहले गुलिस्ता ने एक लड़की को जन्म दिया. लड़की के जन्म देने के बाद से शाहिद व उसके परिजनों ने गुलिस्ता की जिंदगी नरक बना दी.

आये दिन बेटी पैदा होने के कारण गुलिस्ता के साथ मारपीट करने लगे. जब गुलिस्ता ने इसका विरोध किया तो शाहिद ने पीड़िता को तीन तलाक दे दिया. गुलिस्ता से मारपीट कर उसे घर से बाहर निकाल दिया, इसके बाद पीड़िता गुलिस्ता अपने 8 दिन के मासूम बच्चे के साथ मायके पहुंची. वहां सारी आप बीती परिजनों को बताई.
आखिरकार परिजन उसे लेकिर कैराना कोतवाली पहुंचे ओर आरोपी पति सहित सास, ससुर, ननद व दो अन्य लोगो के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है. एएसपी श्लोक कुमार के अनुसार विवाहिता की शिकायत पर पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए आरोपी पति व अन्य कई लोगो के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है तथा पुलिस आरोपियों की धरपकड़ में जुट गई है.

Share This Post

Leave a Reply