आखिर #YogiAdityanath जी का बयान आ ही गया कट्टरपंथी जिन्ना के खिलाफ… गौरवान्वित होंगे आप


1947 में भारत के बंटवारे के जिम्मेदार कट्टरपंथी मोहम्मद अली जिन्ना को लेकर देश की राजनीति में भूचाल मचा हुआ है. बता दें कि 2 दिन पहले अलीगढ़ से भाजपा सांसद सतीश गौतम ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के वीसी को एक पत्र लिखा था, जिसमें उन्होंने कहा था कि उन्हें जानकारी मिली है कि यूनिवर्सिटी में देश को बांटने वाले मोहमम्मद अली जिन्ना की फोटो लगी है. उन्होंने यूनिवर्सिटी के वीसी से प्रश्न किया था कि वह बताएं कि आखिर ऐसा क्या कारण है कि वहां जिन्ना की फोटो है. भाजपा सांसद की इस चिट्ठी के सामने आने के बाद देश की राजनीति गरमा गई तथा देशभर से एक स्वर में जिन्ना की तस्वीर के खिलाफ आवाज उठने लगी.

हालांकि इस बीच देश में कुछ जिन्ना समर्थक भी उभर आई तथा उन्होंने यूनिवर्सिटी में जिन्ना की तस्वीर लगी होने को जायज ठहराया. जिसके बाद कल बुधवार को हिन्दू सँगठनों AMU के बाहर जोरदार विरोध प्रदर्शन भी किया. जिन्ना पर मचे बवाल के बीच अब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने भी अपना बयान दिया है. और योगी जी ने जो बयान दिया है, उसको सुनकर निश्चित ही आप गौरवान्वित हो उठेंगे. योगी आदित्यनाथ जी ने जिन्ना को लेकर कहा कि हिंदुस्तान में जिन्ना का योगदान कुछ नहीं है, अगर जिन्ना का देश के लिए एकमात्र योगदान है तो वो है देश का बंटवारा कराना. और देश का बंटवारा कराने वाले, भारत माता के टुकड़े करने वाले मोहम्मद अली जिन्ना का सम्मान हिंदुस्तान के किसी भी कोने में कतई स्वीकार नहीं किया जा सकता. AMU में जिन्ना की तस्वीर लगी होने के सवाल पर मुख्यमंत्री योगी जी ने कहा कि उन्होंने इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं कि आखिर क्यों जिन्ना की तस्वीर लगी है. उन्होंने कहाँ कि जांच रिपोर्ट आने के बाद वह सही जवाब देंगे.उन्होंने कहा कि AMU हो या कोई और जगह जिन्ना को तस्वीर नहीं लगेगी.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...