Breaking News:

अतीक के बाद अब लगा उसके भाई का नंबर… कराह उठे अपराधी योगी के राज में

सत्ता में आने के बाद से ही समाज के दुश्मन माफिया, कुख्यात अपराधियों के खिलाफ आक्रामक कार्यवाही कर रही योगी सरकार अब अतीक अहमद को जमीन सुंघाने जा रही है. वो अतीक अहमद जो राजनैतिक संरक्षण पाकर दशकों तक समाज में खौफ का पर्याय रहा लेकिन फिलहाल जेल की सलाखों के पीछे है अब उसी अतीक अहमद के खिलाफ योगी सरकार ने बड़ी कार्यवाही शुरू की है. अतीक अहमद पर शिकंजा कसते हुए उनकी अवैध सम्पत्तियों को जब्त करने काम शुरू हो चुका है. जिसके बाद साल भर से सलाखों के पीछे कैद पूर्व सांसद अतीक अहमद और उसके फरार भाई अशरफ सहित पूरी गैंग में हडकंप मचा गया है. बाहुबली अतीक अहमद के ड्रीम सिटी पर आज जिला प्रशासन के साथ आईजी एसटीएफ ने घेरे बन्दी शुरू की, जिसकी रिपोर्ट जल्द ही सरकार को सौपी जायेगी.

बता दें कि इलाहाबाद शहर के कैरेली में स्थित अतीक अहमद के ड्रीम प्रोजेक्ट के अलीना सिटी की पांच सौ बीघे से ज्यादा की जमीन पर प्रशासन बड़े एक्शन की तैयारी में है. गौरतलब है की अतीक की अलीना सिटी पर अवैध तरीके से बसाए जाने का आरोप है, जिसकी योगी सरकार बनने के बाद फिर से जांच शुरू हुई. एसटीएफ आईजी लखनऊ जिला प्रशासन की टीम डीएम एसएसपी सहित एडीए के अधिकारियों ने मौके पर जाकर निरीक्षण किया. इस दौरान सभी अधिकारियों ने मीडिया से दुरी बनाये रखी. दरअसल बाहुबली अतीक अहमद बीते साल से देवरिया जेल में बंद है. लेकिन उसका भाई पूर्व विधायक अशरफ फरार है. अतीक अहमद की ड्रीम सिटी के प्रोजेक्ट पर योगी सरकार की निगाहें टेढ़ी हुईए जिसके बाद से अतीक खेमे में हड़कंप मच गया है. जानकारों की माने तो बाहुबली अतीक अहमद के सपने के शहर को तीन फेज़ में तैयार होना था, जिसमे अलीना सिटी फर्स्ट, अलीना सिटी सेकंड और अहमद सिटी के नाम से तैयार होता. दरअसल रविवार को आईजी एसटीएफ अमिताभ यश के नेतृत्व में एसटीएफ की स्थानीय टीम सहित जिलाधिकारी, कप्तान, तहसीलदार ,नायब तहसीलदार, की बैठक हुई. जिसमें अतीक सहित जिले अन्य भू मफ़िआओ के खिलाफ की गई कार्यवाही की जानकारी तलब की गई. बैठक के दौरान भी मिडिया को दूर रखा गया. बैठक के बीच ही आईजी एसटीएफ अमिताभ यश के नेतृत्व में पूरी टीम अलीना सिटी की तरफ कूच कर गई. एसएसपी डीएम सहित कई थानों की फोर्स के साथ एसटीएफ की टीम वहां पहुंची. जिसके बाद अतीक के करीबियों में हड़कंप मच गया .

अलीना सिटी को लेकर प्रशासन ने सख्त रवैया अख्तियार करते हुए घेरेबंदी शुरू की.  जानकारी के मुताबिक़ प्राइवेट बिल्डरों द्वारा अलीना सिटी की जमीन पर सीवर लाइन सड़क और खंभे लगाए गए थे. जिसकी शिकायत पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अतीक की सभी अवैध जमीनों पर कार्यवाही करने का निर्देश दिया है.  पुलिस सूत्रों की माने तो अलीना सिटी के लिए लगभग 500 से 800 बीघे पर अतीक का कब्जा है और इस जमीन में बड़ा हिस्सा ग्राम सभा की जमीन का शामिल है, साथ ही किसानों की जमीन के साथ सैकड़ो बीघे जमीन एससी एसटी की है, जिसको जबरन कब्जा किया गया था. जानकारी के मुताबिक अतीक अहमद के रुतबे के चलते किसानों और पिछड़ी जातियों की शिकायत के बावजूद भी कोई कार्यवाही नहीं हुई और अतीक अहमद का कब्जा बरकरार था. बता दें की जिस जमीन पर सिटी बसाई जानी थी वह पूरी जमीन ग्रीन जोंन में आती है और योगी सरकार ने अतीक को जमीन सुंघाने का मन बना लिया है. 

Share This Post