मुज़फ्फरनगर-अंतर्राजीय वाहन चोर के बड़े गेंग के ताबूत में SSP अभिषेक यादव ने ठोक दी आखरी कील”अफसरों के घर था वाहनचोरो का आना जाना


मुज़फ्फरनगर/उत्तर प्रदेश

मुज़फ्फरनगर पुलिस ने ऐसे अन्तर्राजीय वाहन चोर गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है जो दिल्ली और एन सी आर सहित कई अन्य राज्यों से लग्ज़री वाहनों को चोरी कर उनके ऊपर फर्जी नंबर प्लेट लगाकर OLX पर सस्ते दामों में बेच दिया करते थे। पुलिस ने पकडे गए वाहन चोरो के पास से लगभग 40 लाख रूपये से ज्यादा के चोरी किये गए वाहनों को बरामद किया है। 
मुज़फ्फरनगर जनपद में बढ़ रही वाहन चोरी की घटनाओ पर अंकुश लगाने के लिए मुज़फ्फरनगर पुलिस दिन रात वाहन चेकिंग अभियान चलाकर वाहन चोर और लूटेरो को गिरफ्तार कर रही है। इसी क्रम में रविवार रात मुज़फ्फरनगर की थाना सिविल लाइन पुलिस और मुज़फ्फरनगर की क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम ने मुखबिर की सुचना पर अन्तर्राजीय वाहन चोर गिरोह के दो शातिर सदस्यों अर्पित अग्रवाल ,विनोद कुमार को गिरफ्तार कर उनके पास से 40 लाख रूपये से ज्यादा की कीमत के लग्ज़री वाहन बरामद किये है जिनमे 2 मारुती ब्रेजा ,2 इन्फिल्ड बुलेट ,2 एक्टिवा ,1 स्वीफ्ट डिज़ायर ,1 बजाज प्लेटिना और दो देशी तमंचे और कारतूस बरामद किये है। पुलिस के मुताबिक ये गिरोह दिल्ली और उसके आस पास के राज्यों से लग्ज़री वाहनों को चोरी कर उनके ऊपर फर्जी नंम्बर प्लेट लगाकर OLX पर सेल करते थे।
इनका एक अन्य साथी जो पहले से ही लूट चोरी के मामलो में जेल में बंद है। पुलिस की पकड़ में आया वाहन चोर विनोद एक गुड़ व्यापारी है और शेयर मार्किट में पैसा लगाता था जब शेयर मार्किट में उसे ज्यादा घाटा होने लगा तो उसने इधर उधर से ब्याज पर पैसा उठाकर शेयर मार्किट में लगा दिया जिससे और घाटा होने लगा और ब्याज वाले पैसा मांगने लगे जबकि वो पैसे देने की स्तिथि में नहीं था। तभी उसकी मुलाकात मुज़फ्फरनगर के ही युवक विशाल कश्यप और अर्पित अग्रवाल से हुई तीनो ने मिलकर राम प्लाजा मार्किट में एक ऑफिस खोला और शेयर मार्किट का काम करने की आड़ में लोगो को चोरी के वाहन बेचने शुरू कर दिए। मुज़फ्फरनगर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव ने आज एक पत्रकारवार्ता में जानकारी देते हुए बताया   कि यह वाहन चोरी का एक गैंग पकड़ा गया है इसमें दो अभियुक्त गिरफ्तार हुए हैं जो तीसरा मुख्य अभियुक्त है वह पहले से ही जेल में बंद है
इसके अलावा अर्पित और विनोद कुमार नाम के दो अभियुक्त पकड़े गए हैं विशाल कश्यप इन में इनका पुराना सूत्रधार है जो कि पहले भी कई मामलो में जेल जा चुका है जो कि जनपद गाजियाबाद से भी वाहन चोरी के मुकदमे में जेल जा चुका है पहले नई मंडी थाना से भी इसको गैंगस्टर के मामले में जेल भेजा जा चुका है इनके द्वारा गाड़ी चोरी करके सप्लाई की जाती थी और फिर यह आगे लोगों को बेचते थे इन लोगों से दो मारुती ब्रेजा,एक  स्विफ्ट डिजायर,2 बुलेट, 2 एक्टिवा और तमंचा कारतूस बरामद हुए हैं टोटल रिकवरी 35 लाख की गाड़ी हुई हैं जो कि सिविल लाइन और क्राइम ब्रांच की टीम द्वारा की गई है यह लोग गाड़ी की नंबर प्लेट बदलकर उसको फर्जी रूप में चलाते थे 420 ई का मुकदमा भी इन लोगों पर दर्ज किया गया है और इन गाड़ियों को ट्रेस किया जा रहा है हमारी टीम में लगी हुई हैं आगे भी और कार्रवाई अमल में लाई जाएगी यह लोग अन्य जनपदों से गाड़ी को चोरी  कर यहां लाकर उसको बेचते थे।
रिपोर्ट
समर ठाकुर
वेब जर्नलिस्ट मुज़फ्फरनगर
Mob-9368004900

सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...