Breaking News:

पीलीभीत में भयानक दरिंदगी.. अपहरण कर के किया बलात्कार फिर फेंक दिया छत से

पिछले कुछ समय से पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिन्दुओ के साथ हो रही घटनाओं ने हर किसी का ध्यान अपनी तरफ खींच लिया था. उस समय अपहरण , धर्मांतरण और बलात्कार आदि की तमाम घटनाओं ने ये साबित कर दिया था कि पाकिस्तान में धर्मनिरपेक्षता का अंत हो चुका है.. उस समय भारत के तमाम लोग खुद को सुरक्षित महसूस करते हुए ये कह रहे थे कि पाकिस्तान हिन्दुओ के लिए नर्क है .. लेकिन पीलीभीत में हो हुआ उसको देख और सुन कर हर कोई हैरान हो जायेगा ..

पीलीभीत में एक महिला को पहले तो दुस्साहसिक ढंग से अपहरण किया गया और उसके बाद उसका बलात्कार अपने घर की छत पर ले जा कर किया गया . जब वो शोर मचाने लगी और चीखने लगी तो बलात्कार होती महिला की चीख को दबाने के लिए उसको छत से नीचे फेंक दिया गया .. छत से फेंकने का उद्देश्य ये था कि उस पीडिता को सदा के लिए खामोश कर दिया जाय.. ये घटना के बाद न सिर्फ गाँव बल्कि आस पास के क्षेत्रो में तनाव फ़ैल गया है और भारी फ़ोर्स लगा दी गई है .

ये मामला है पीलीभीत के बीसलपुर का.. घटना है गुरुवार की और शाम के लगभग साढ़े सात बज रहे रहे थे .. इसी क्षेत्र के एक ग्राम निवासी युवती पिता के लिए चाय बनाने के लिए गांव में ही मौजूद किराने की दुकान से चीनी खरीदने जा रही थी। रास्ते में पहले से ही मौजूद दूसरे समुदाय के हवस की आग में जलते 2 दरिंदो ने उसे अकेला देखकर पीछा करना शुरू कर दिया। फिर मौका देख पास जाकर युवती का मुंह दबाते हुए खींचकर मकान के अंदर ले गए. उसने तमाम मिन्नत की पर वो नहीं माने ..

छत के कमरे में ले जाकर एक युवक ने दुष्कर्म किया। दूसरा युवक बाद में दुष्कर्म का प्रयास करने लगा। पीड़िता युवती ने मदद के शोर मचाया तो दोनों युवक उसे पीटने लगे। इस दौरान युवकों ने गुस्से में युवती को छत से नीचे फेंक दिया, जिससे वह घायल हो गई। शोर शराबा होने पर पड़ोसियों ने जब सड़क पर जाकर देखा तो युवती को घायल अवस्था में पड़ा देखा।शुक्रवार को सुबह कोतवाली में आकर युवती ने दोनों युवकों के खिलाफ पुलिस को तहरीर दे दी है। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। जांच के उपरांत कार्रवाई की जाएगी।

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW