लव जिहादी के साथ आये उन्मादियो की पत्थरबाजी से पुलिस वाले थाना छोड़ भाग गये, लेकिन डटा रहा बजरंग दल


क्या इसको नहीं माना जायेगा मॉब लिंचिंग ? क्या इसको अपराध का समर्थन नहीं कहा जाएगा और साथ में क्या इसको सत्ता का खुला समर्थन भी नहीं बोला जा सकता है . लव जिहाद पीडिता अगर थाने के अन्दर सुरक्षित नहीं है तो आखिर उसको सुरक्षा कहाँ मिलेगी ? कांग्रेस शासित मध्य प्रदेश में कमलनाथ भले ही महिला सुरक्षा और कानून व्यवस्था के लिए पड़ोसी राज्यों में झाँक रहे हों पर उनके खुद के राज्य और वो भी उज्जैन जैसी धर्मनगरी में ऐसी घटना किसी के भी रोंगटे खड़े कर सकती है .

कक्षा 9 की बच्ची को नहीं छोड़ा हवस की आग में जलते ईसाई पादरी ने.. बनाया था प्रार्थना का बहाना

यहाँ पर एक लव जिहादी को जिस प्रकार से मजहबी उन्मादियो ने समर्थन देते हुए उसके लिए पुलिस थानों तक पर पत्थरबाजी कर डाली वो किसी को भी विचलित कर सकती है . पुलिस सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार इंदौर के मरीमाता क्षेत्र में रहने वाली 22 वर्षीया हिन्दू युवती का करीब चार सालों से उज्जैन के फव्वारा चौक निवासी मुस्लिम लड़के साहिल शेख नामक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था. बुधवार को युवती भीलवाड़ा से अपनी बहन के यहां से इंदौर जाने के लिए निकली थी.

कक्षा 9 की बच्ची को नहीं छोड़ा हवस की आग में जलते ईसाई पादरी ने.. बनाया था प्रार्थना का बहानाबचपन से जिस पिता ने अपनी बेटी को धर्मनिरपेक्षता की शिक्षा दी थी अब बड़ी हो कर उसी बेटी ने अपने पिता को कोर्ट में दी ये शिक्षा

लेकिन असल में ये सब साहिल द्वारा बुना गया एक जाल था जिसमे वो फंस चुकी थी .. इसके चलते ही वह देर रात तक घर नहीं पहुंची। इस पर उसके परिजन ने तलाश शुरू की.. काफी खोजबीन के बाद ये पता चला कि युवती साहिल के साथ उज्जैन में ही है. इस पर युवती के परिजन नानाखेड़ा स्थित मॉल में साहिल शेख की कपड़ों की दुकान पर पहुंच गए। साहिल शेख उन्हें देख कर आग बबूला हो गया और सच स्वीकार करने के बजाय यहां दोनों पक्षों के बीच विवाद हो गया।

इंस्पेक्टर की हत्या के आरोपियों को जमानत मिली तो विरोध, लेकिन गौ हत्यारे महबूब अली को जो सुप्रीम कोर्ट से मिला उस पर ख़ामोशी.. और बुलंदशहर में बुलंद हुआ सेकुलरिज्म

हंगामे की सूचना पुलिस को मिली तो पुलिस युवक तथा युवती के परिजन को लेकर महिला थाने पहुंच गई। इस दौरान जानकारी मिलने के बाद वहां पर हिंदूवादी संगठन के लोग भी एकत्र हो गए। खत्म होने के बजाय उलझते जा रहे इस विवाद पर दोपहर साढ़े 12 बजे से हंगामा चलता रहा.. आखिरकार साहिल शेख ने ये स्वीकार ही कर लिया कि उसने उस लड़की को कहाँ रखा हुआ है .. साहिल से पूछताछ के बाद पुलिस दोपहर तीन बजे दशहरा मैदान स्थित होटल से युवती को लेकर महिला थाने पहुंची।

इंडोनेशिया से मुस्लिम लडकी की फ्रेंड रिक्वेस्ट फेसबुक पर आने के बाद ख़ुशी से झूम उठा हरियाणा का भीम सिंह और पहुँच गया मिलने.. लेकिन अब हुआ “सच का सामना”

इसी के बाद हंगामा बढने लगा .. शाम करीब 4.30 बजे मुस्लिम समुदाय के तमाम लोग वहां जमा हो गये और थाने में साहिल की गलती मानने के बजाय वहां बवाल करना शुरू कर दिया ..हिंदूवादी संगठन के लोगों को भीतर देख वे और भी ज्यादा भड़क गए और उन्होंने कश्मीरी अंदाज़ में भयानक पत्थरबाजी शुरू कर दी .. इसके बाद बाज़ार में भगदड़ मच गई और हालात यहाँ तक बने कि खुद पुलिस वाले थाना छोड़ कर भाग खड़े हुए और लडकी व उसके परिजनों की सुरक्षा खतरे में पड़ गई .

उत्तर से पूरब तक हर तरफ सफाई.. अब असम में अलर्ट हैं अर्धसैनिक बल और पूरी पुलिस फ़ोर्स पुलिस. कल आयेगा बड़ा फैसला

सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार वहां भीषण पत्थरबाजी में बजरंग दल के लोग नहीं भागे.. इस भारी हंगामे की वायरलैस सेट पर चले पॉइंट के बाद एएसपी रूपेश द्विवेदी, नानाखेड़ा टीआई सतनाम, चिमनगंज टीआई मनीष मिश्रा सहित नीलगंगा व माधवनगर थाने का बल मौके पर पहुंचा और स्थिति नियंत्रण में की। इस दौरान पत्थर फेंक रहे मजहबी उन्मादी थाने से भाग निकले। पुलिस ने थाने के बाहर खड़े आधा दर्जन दोपहिया वाहनों को जब्त कर लिया है ..

देवभूमि हिमाचल प्रदेश में भाजपा सरकार ने कुतर दिए धर्मांतरण के साजिशकर्ताओं के पर.. जयराम सरकार में गूंजा “जय श्री राम”

पथराव के दौरान राहुल पिता शेखर प्रजापत निवासी पिलिया खाल का सिर फूट गया वहीं अर्जुनसिंह भदौरिया निवासी महाकाल घाटी को भी चोट लगी है। पुलिस ने शेखर की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार युवती को फिलहाल उसके परिजन के साथ इंदौर भेज दिया गया है। परिजन ने बताया कि युवती होटल मैनेजमेंट का काम करती थी। इसी दौरान युवक से उसका परिचय हुआ था.. लडकी का परिवार मोर्डन और सेक्युलर विचारधारा का था ..

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...