Breaking News:

भगवान श्री राम क्या हैं ये बताया है गुजरात के मुख्यमंत्री जी ने…… आप भी जानें वो महानता

भगवान श्री राम पुरसोतम की जीतनी भी बड़ाई की जाए वो छोटा मुँह बड़ी बात होगी। भगवान श्री राम सत्य का रूप हैं। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने

भगवान श्री राम को सामाजिक इंजीनियर बताया। उन्होंने कहा की अगर बुनियादी ढांचा भगवान राम और रामायण से जुड़ा है तो कल्पना कीजिए राम किस तरह

के इंजीनियर थे, जिन्होंने भारत और श्रीलंका को जोड़ने के लिए पुल का निर्माण किया। गिलहरी तक ने पुल के निर्माण में मदद की पेशकश की थी।

आज भी

लोग कहते हैं कि राम सेतु के अवशेष समुद्र में हैं। राम सेतु राम की कल्पना थी, और इंजीनियरों ने तब अस्थायी पुल बनाया था।
गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी इंस्टीट्यूट ऑफ इंफ्रास्ट्रक्चर टेक्नोलॉजी रिसर्च एंड मैनेजमेंट (IITRAM) के दीक्षांत समारोह में इंजीनियरिंग छात्रों को संबोधित

करते हुए ये बाते बोली। इस दौरान दर्शकों की सराहना के बीच रुपानी ने रामायण के और उपाख्यानों का संदर्भ दिया गया। उन्होंने कहा कि जब लक्ष्मण युद्ध में

बेहोश हो गए, तो विशेषज्ञों का मानना था कि उत्तर में एक जड़ी बूटी थी जो उन्हें ठीक कर सकती थी, यानी तब शोध उपलब्ध था. जब हनुमान भूल गए कि

किस जड़ी बूटी को चुनना है तो वह पूरे पहाड़ को ले आए।

तब किस तरह की तकनीक थी, जो पूरे पर्वत को लाने में मदद कर सकती थी? यह बुनियादी ढांचे के

विकास की एक कहानी है।
मुख्यमंत्री अपने पुरे वक्तवय में प्रभु श्री राम की विशेस्ताये और उस समय की पहुंच के बारे में बताते रहे और छात्रों को प्रभु श्री राम के रास्तो पर चलने का सलाह

दिया। उन्होंने प्रभु श्री राम के युद्ध कौसल के बारे में बताया और उन्हें सामाजिक इंजीनियरिंग भी कहा। प्रभु श्री राम सबरी प्रेम के गवाह है। 

Share This Post