हिंदुओं का नरक बना केरल. अब संघ मुख्यालय पर कश्मीरी अंदाज में बमबारी

केरल : देश में राजनितिक हिंसा को लेकर पिछले दिनों ही राजनाथ सिंह ने चिंता जाहिर कर राज्यों को आदेश दिया था कि वो राजनितिक हिंसा को रोके और केंद्र

भी इस में उनको मदद करेगी। बता दें कि राजनितिक हिंसा गत सोमवार को फिर से केरल में दोहराया गया। केरल में सोमवार को हुई हिंसा की अलग-अलग

घटनाओं में दो संगठन के कार्यालयों को निशाना बनाया गया।

हमला कोट्टायम में माकपा की ट्रेड यूनियन इकाई सीटू के जिला समित कार्यालय पर पथराव किया गया जबकि आरएसएस के जिला कार्यालय पर भी पेट्रोल बम

फेंका गया। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबित, बीती देर रात करीब ढाई बजे हुए इस हमले में सीटू कार्यालय की खिड़की के शीशे टूट गए। माना जा रहा है कि

पांच लोगों के समूह ने इस हमले को अंजाम दिया जो वहां तीन बाइकों पर सवार होकर आए थे।

भाजपा की जिला इकाई के मुताबिक हमले से शहर की थिरुंक्करा स्थित इमारत को काफी नुकसान पहुंचा है।

गौरतबल है कि भाजपा ने माकपा कार्यकर्ताओं पर

आरएसएस के जिला कार्यालय पर बम हमले का आरोप लगाया है। वहीं, माकपा के कोट्टायम जिला सचिव वीएन वासवान ने सीटू के जिला समित कार्यालय पर हुए

हमले के पीछे भाजपा-आरएसएस के कार्यकर्ताओं का हाथ होने की बात कही है। पुलिस ने हमलों की जांच करना शुरु कर आरएसएस-भाजपा के कार्यकर्ताओं को

हिरासत में लिया।

Share This Post

Leave a Reply