इस बार बंगाल से डर के मारे पलायन करने वाले और कोई नही बल्कि भाजपा के नेता, वो भी चुनाव में जीते हुए

आपने सूना होगा कि आक्रान्ताओं से डर के कारण कश्मीर से हिन्दुओं को पलायन करना पड़ा. आपने सूना होगा कि इसी आक्रान्ताई सोच के कारण कैराना से हिन्दू समाज को पलायन करना पड़ा. श्रीरामनवमी पर बंगाल में हुई दंगों के बाद हिन्दुओं के पलायन की खबरें आयीं थी. ऐसी एक नहीं बल्कि घटनाएँ आपने सूनी होंगी कि अपने ही देश हिंदुस्तान में हिन्दू समाज को आक्रान्ताओं के डर के कारण पलायन करना पड़ा है. लेकिन अब जो पलायन हुआ है उसे सुनकर आप दंग रह जायेंगे. इस बार पलायन हुआ भारतीय जनता पार्टी के पंचायत चुनाव में जीते हुए नेताओं का, जिन्होंने धमकियां तथा जान के खतरे के कारण बंगाल से पलायन किया है.,

खबर के मुताबिक, पश्चिम बंगाल में हुए पंचायत चुनाव में भाजपा से चुनाव जीते हुए जनप्रतिनिधि सत्तारूढ़ दल टीएमसी के नेताओं व कार्यकर्ताओं के डर से पश्चिम बंगाल को छोड़ रविवार रात को झारखंड के साहिबगंज जिले अंतर्गत बरहरवा बिंदुधाम मंदिर परिसर में शरण लेने पहुचे है. जहाँ उनके साथ मालदा जिले के वैष्टमनगर से भाजपा विधायक साधिन सरकार भी उनके साथ पहुंचे और स्थानीय भाजपा नेताओं से सम्पर्क कर करीब 35 भाजपा जनप्रतिनिधि व कार्यकर्ताओं शरण दिलाया. चुनाव जीते हुए भाजपा जनप्रतिनिधियों का कहना है कि तृणमूल कांग्रेस के लोग उन्हें धमकियां दे रहे हैं तथा वहां की पुलिस भाजपा प्रत्याशियों को जबरन टीएमसी में शामिल होने का दबाव डाल रही है.

बीजेपी नेताओं का कहना है कि पुलिस प्रशासन के डर से कई कार्यकर्ता घर छोड़कर इधर-उधर अपने रिश्तेदारों के यहां शरण ले रहे हैं. तो वहीं कुछ कार्यकर्ता पश्चिम बंगाल पुलिस व स्थानीय जिला प्रशासन कि डर से अपने अपने घरों मे ताला जड कर दुसरे राज्यों मे शरण लेने को विवश है. भागकर आए जनप्रतिनिधियों का कहना है कि ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल में जबरन शासन करना चाहती है . भाजपा प्रत्याशियों पर उल्टे सीधे केस मे फंसाया जा रहा है तो कुछ कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट भी ममता सरकार करवा रही है इस कारण कई कार्यकर्ता काफी डरे सहमे हुए हैं बंगाल में लोकतंत्र पूरी तरह से खतरे में है वहां पर सिर्फ और सिर्फ ममता बनर्जी का हिटलरी चल रहा है भागकर आए अधिकांश कार्यकर्ता मालदा जिले के विभिन्न प्रखंडों से हैं. आप स्वयं अंदाजा लगा सकते हैं कि जब बंगाल में अपोजीशन के नेताओं को पलायन करना पड़ रहा है तो वहां की आम जनता, खासकर हिन्दू समुदाय की क्या स्थिति होगी.

Share This Post

Leave a Reply