भाजपा नेत्री के बयान से रो पड़े बांग्लादेश में कट्टरपंथियों द्वारा प्रताड़ित हिन्दू… जानिये किस का था बंगाल ?

असम में एनआरसी का ड्राफ्ट जारी होने के बाद जो राजनीति शुरू हुई थी वो अब तक रुक नहीं पा रही है. असम NRC जारी होने के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी काफी आक्रामक नजर आ रही हैं तथा उन्होंने कहा है कि अगर NRC को लागू किया गया तो देश में गृहयुद्ध छिड़ जाएगा तथा भीषण रक्तपात होगा लेकिन वहीं भारतीय जनता पार्टी इस मुद्ददे पर अडिग है तथा भाजपा का कहना है वह बांग्लादेशी मुस्लिम घुसपैठियों को देश से खदेड़ कर ही मानेगी.

असम NRC ने बाद भाजपा ने बंगाल में NRC जारी करने की मांग की है जिससे ममता बनर्जी और बौखलाई हुई हैं. अब पश्चिम बंगाल की बीजेपी महिला नेता रूपा गांगुली ने भी सिटिजनशिप बिल पर ऐसा बयान दिया जिससे राजनीति गरमा गई है. रूपा गांगुली ने कहा कि इस देश में हिंदू शरणार्थी नहीं हैं. उन्होंने कहा कि विश्व के अलग-अलग हिस्सों से लोग भारत आए थे. बौद्ध शरणार्थी और जैन शरणार्थी भी अलग-अलग देशों से भारत आए थे.  उन्होंने कहा कि जब बंटवारा हुआ था तब पाकिस्तान मुस्लिम देश बना था, बांग्लादेश भी मुस्लिमों का देश है.  उन्होंने कहा भारत का हिस्सा बंगाल, हिंदूओं के लिए था जो बांग्लादेश से लौटकर आए थे. इसके पहले भी बीजेपी बांग्लादेशियों के बंगाल में अवैध रूप से रहने के मुद्दे को उठाती रही है और इसको लेकर ममता सरकार पर हमला बोलती रही है. पिछले दिनों बंगाल में रैली के दौरान बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने इस मुद्दे को उठाया था और कहा था कि बांग्लादेशी घुसपैठिए देश के लिए खतरा हैं और ये घुसपैठिए टीएमसी के वोटर हैं. उन्होंने ममता बनर्जी को चुनौती देते हुए कहा था कि उनके रोकने से एनआरसी नहीं रुकेगी.

Share This Post