Breaking News:

जिन्ना का बदला “सुभाष चन्द्र बोस” से … तोड़ डाली गयी उनकी मूर्ति

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस- जिंकने नाम से ही फिरंगी अंग्रेजी सत्ता काँप उठती थी. जो फिरंगी पूरे हिंदुस्तान पर शासन कर रहे थे, उन फिरंगियों के सामने अगर भारत माता के लाड़ले, महाबली योद्धा नेताजी सुभाष चन्द्र बोस का नाम ले लिया जाता तो उनकी हालात खस्ता हो जाती थी. नेताजी सुभाष हिंदुस्तान की वो महान विभूति हैं जिन्होंने आजीवन अपने बल, पौरुष, साहस व् प्रक्रम के साथ अंग्रेजी सत्ता से हिंदुस्तान को आजाद कराने के लिए संघर्ष किया तथा जिनकी एक आवाज मात्र पर पूरा देश उठ खड़ा हो जाता था. लेकिन उन्ही नेताजी सुभाष साथ आज वो कृत्य हुआ है जिसे जानकर हर राष्ट्रवादी का खून खुल उठेगा.

गौरतलब है कि इस समय अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भारत का बंटवारा कराने वाले कट्टरपंथी मुहम्मद अली जिन्ना तस्वीर लगी होने को लेकर देश में हंगामा मचा हुआ है. जब से देश को पता चला है कि यूनिवर्सिटी में जिन्ना की तस्वीर लगी है तो पूरा देश सडकों पर उतरा आया तथा एक सुर में जिन्ना की तस्वीर हटाने की मांग की. देश के कई क्षेत्रों में जगह जगह जिन्ना के पुतले जलाए लगे लेकिन इसके बाद जिन्ना समर्थक पाक परस्त लोगों ने जो किया वो बहुत ही दुखद तथा शर्मनाक था.

जब पूरा देश जिन्ना के खिलाफ सडकों पर था तथा जिन्ना के पुतले जला रहा था, ठीक उसी समय कोलकता में नेताजी सुभाषचंद्र बोस की मूर्ति को तोड़ दिया गया. जिन्ना का पुतला जलाने का बदला बंगाल में नेताजी सुभाष बोस की प्रतिमा को तोड़कर लिया गया है. नेताजी सुभाष की ये प्रतिमा पश्चिम बंगाल के कोलकाता में नारकेलडांगा के पार्क में लगी थी. जरा सोचिये एक तरफ नेताजी सुभाष बोस जिन्होंने देश को जोड़ने का कम किया, जिन्होंने देश की एकता के लिए, देश को आजादी दिलाने के लिए अपना पूरा जीवन लगा दिया, वही दूसरी तरफ वो मोअहम्म्द अली जिन्ना जिसने देश के टुकड़े किये, जिसके कारण लाखों हिन्दुस्तानियों का क़त्ल किया गया, उस देशद्रोही जिन्ना के लिए आज जिन्ना समर्थकों के भारत माँ के लाल नेताजी सुभाष की प्रतिमा को तोड़ दिया. देश की जनता को देश के अंदर छिपे बैठे इन पाक परस्त लोगों को पहिचान लेना चाहिए कि ये लोग देश के लिए कितना बड़ा विष साबित हो सकते hai

Share This Post