Breaking News:

हिन्दुओं की घटती जनसंख्या का सबसे बड़ा गवाह पश्चिमी उत्तर प्रदेश बन गया था ISIS की प्रयोगशाला.. NIA के छापे से खुल रही परतें

सुदर्शन हमेशा से अपने दर्शकों को, हिंदुस्तान को ये बात बताता रहा है कि जब-जब और जहाँ-जहाँ हिन्दुओं की जनसंख्या कम हुई है, तब-तब और वहां-वहां देशविरोधी ताकतें मजबूत हुईं है. हिन्दुओं की घटती कितनी खतरनाक हो सकती है, इसका सबसे बड़ा गवाह है पश्चिमी उत्तर प्रदेश. आज के समय में पश्चिमी उत्तर प्रदेश इस्लामिक आतंकी दल ISIS की प्रयोगशाला बन चुका है तथा यहाँ से कई मौलाना-मौलवी आतंकी गतिबिधियों में संलिप्तता के कारण गिरफ्तार किये गये हैं.
आपको बता दें कि वेस्ट यूपी से अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के कनेक्शन के सुबूत एनआईए लगातार जुटा रही है. आईएस के खतरनाक मंसूबे पूरे करने के लिए मॉड्यूल तैयार करने के मुकाबले आईएस से जुड़े संदिग्ध लोगों को सुरक्षा एजेंसियां एक-एक कर पकड़कर हथियार सप्लायरों व आईएस के कनेक्शन को खंगाल रही हैं तथा इन्हें रिमांड पर लेकर इस नेटवर्क को तोड़ने में लगी हैं. मेरठ के नईम, अफसार, आरिफ, मतलूब के नाम सामने आए और कई संदिग्ध लोग एनआईए के रडार पर हैं. एनआईए और एटीएस का फोकस मेरठ, हापुड़ समेत वेस्ट यूपी के कई जनपदों पर है जहां पर आईएस की बड़ी घुसपैठ बताई जाती है. सुरक्षा एजेंसियों ने बारीकी से जांच की, उसमें कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए.
नए साल पर आईएस दिल्ली में धमाका करने की फिराक में था. एनआईए को इनपुट मिला जिसको लेकर 26 दिसंबर को 17 जिलों में छापेमारी की. हापुड़ के वैठ गांव से सारिक, मेरठ से नईम और अमरोहा से सुहेल समेत दर्जनों संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार किया. सुरक्षा एजेंसियों ने इन संदिग्ध लोगों की कुंडली खंगाली जिसमें वेस्ट यूपी में आईएस के गहरे कनेक्शन की पुष्टि हुई. वेस्ट यूपी में हथियार सप्लायरों से लेकर स्लीपिंग मॉड्यूल तक का जाल फैला हुआ है जिसके चलते आईएस की जड़ें वेस्ट के जिलों में जमी हैं. संदिग्ध नईम, साकिब, सुहेल समेत अन्य को रिमांड पर लिया गया, जोकि आईएस के नेटवर्क की पोल खोल रहे है.

आईएस से जुड़े संदिग्ध नईम, साकिब और सुहेल समेत कई लोगों को रिमांड पर लेकर एनआईए ने हथियार सप्लायरों का खुलासा किया. सामने आया कि आईएस के एजेंट हथियार सप्लायरों के जरिये देहात के इलाकों में अपना नेटवर्क फैला चुके हैं. सामने आए संदिग्ध लोगों को पेश होने के लिए एनआईए की तरफ से नोटिस जारी होने शुरू हुए. एनआईए ने जिस अफसार को शुक्रवार को पकड़ा, उसे भी नोटिस जारी किया गया था. एनआईए ने शनिवार को मुंडाली के जिसोरा, अजराड़ा आदि गांवों में छापे मारे.

Share This Post