Breaking News:

जाकिर अली को हार्ट अटैक भी आएगा तो शशांक जेल जाएगा ? ये कैसा अन्याय हिन्दुओ के साथ ?


उसका बेटा पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाने का आरोपी है . उसका बेटा उन्मादियो को भीड़ के रूप में ले जाने और मॉब लिंचिंग जैसे कृत्य करने के लिए कुख्यात था . उसको अपने बेटे के कुकर्मो पर कभी दुःख नहीं आया था और जब कानून ने अपना काम किया तो रची जाने लगी ऐसी साजिशें जो आने वाले समय में सबके लिए खतरे की घंटी के समान रहेगी .. इस बार निशाने पर आया है राष्ट्रवादी संगठन बजरंग दल जिसने साहस दिखा कर कुछ उन्मादियो के कृत्यों को कानून की नजर में लाने में सफलता पाई थी .

ये मामला है उत्तर प्रदेश के जनपद लखनऊ का जहाँ पर एक बुजुर्ग जाकिर अली को आये हार्ट अटैक को भी हंगामे की वजह बना लिया गया है और बजरंग दल के कार्यकर्ताओ पर FIR दर्ज कारवा दिया गया है . इस लखनऊ के आशियाना क्षेत्र में एक मोहल्‍ला है सालेह नगर और इसके पड़ोस में है रुचि खंड कॉलोनी। कुछ दिनों पहले रुचि खंड के शशांक गहलोत और बजरंग दल के दो कार्यकर्ताओं ने आशियाना पुलिस स्‍टेशन में 21 साल के अकरम अली और 59 और लोगों के खिलाफ एफआईआर लिखाई थी।

ये सभी साम्प्रदायिक झगड़े के बाद पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाने लगे थे जिसको पुलिस ने गंभीरता से लिया था . बाद में उनके द्वारा सामूहिक झगड़े की खबर को मामूली बताया जाने लगा था जबकि वो सब एक उन्मादी भीड़ की शक्ल ले चुके थे . पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए छापे मारे, पकड़े जाने के डर से अधिकांश लोग फरार हो गए। इन्‍हीं में से एक अकरम भी था. अकरम अपनी हरकतों से पहले ही समाज में जाना जाता था और अचानक ही उसके घर वाले उसके शरीफ होने का दावा करने लगे थे .

अकरम के बुजुर्ग अब्बा पहले भी काफी बीमार रहते थे .. अपने बेटे की हरकतों से वो पहले ही दुखी रहते थे उनका नाम जाकिर अली था और बाद में उनको हार्ट अटैक आ गया और वो मर गये ..हार्ट अटैक की घटना को भी उसी प्रकार से साम्प्रदायिक रंग दिया जाने लगा जैसे कि कभी ट्रेन में सीट के झगड़े को गाय के विवाद के रूप में ढाल दिया गया था . इसी को ले कर लगभग 100 लोग धरने पर बैठ गये .. वो सब के सब बजरंग दल के कार्यकर्ताओ पर FIR करने की मांग करने लगे ..

जब इसकी खबर लखनऊ पुलिस के उच्च अधिकारियो को हुई तो वो सब वहां पहुचे और हार्ट अटैक के मामले में भी धरना दे रहे लोगों को समझाने लगे लेकिन वो मानने के लिए भी तैयार नहीं थे . उनका अजीबोगरीब रूप से कहना था कि इस हार्ट अटैक के लिए भी बजरंग दल जिम्मेदार है ..  मीडिया रिपोर्ट के अनुसार आखिरकार इसमें लखनऊ पुलिस के अधिकारी झुक गये और उन्होंने जाकिर की बीबी की ओर से बजरंग दल और भगवा रक्षा वाहिनी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ काउंटर एफआईआर लिखा ली .. यद्दपि ये अपनी तरह का पहला मामला है जब हार्ट अटैक होने पर भी काऊँटर FIR लिखी गई थी वो भी पाकिस्तान के समर्थन में नारा लगाने वालों के परिवार से .. सवाल ये भी है कि   क्या ये परम्परा जैसी बन जाएगी ? क्या अब किसी जाकिर के हार्ट अटैक का भी जिम्मेदार कोई शशांक ही माना जायेगा ?


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share