व्यापारी के बेटे का अपहरण करने वाला एहसान. खुद ही खोज रहा था उसे उसी व्यापारी के साथ….

करीबी दोस्त ने ही किया विश्वाश्घात और करता रहा अपनेपन का दिखावा। जब अपने ही धोखेबाज निकले तो कोई कैसे किसी पर विश्वाश करे। मासूम की जान लेते हुए इस दरिंदे के हाथ तक नहीं कापे। दोस्त होते हुई भी दोस्ती के मायने नहीं जान पाया और कर बैठा अपने ही दोस्त के साथ धोखा। यह मामला देवबंद कोतवाली क्षेत्र के कस्बा देवबंद मोहल्ला सफेद मस्जिद का है। देवबंद मोहल्ला निवासी नदीम और एहसान बहुत अच्छे दोस्त माने जाते है।

Image Title

उनकी दोस्ती को लेकर पूरे पूरे मोहल्ले में चर्चित थे। दोनों दोस्त एक दूसरे के बारे में सब जानते लेकिन फिर भी एहसान ने नदीम को दी दगा। नदीम के हस्ते खेलते परिवार को उसी के दोस्त ने तबाह कर दिया। गुरुवार की सुबह पुलिस के हाथ लगा घर से लापता हुए पांच साल के बच्चे का शव। शव मिलते ही पुलिस ने तुरंत कार्यवाही कर बच्चे की हत्या का खुलासा किया। खुलासा करते हुए पुलिस ने हत्यारे को हिरासत में ले लिया है।
बताया जा रहा है कि गुरुवार को करीब 11 बजे नदीम का पांच वर्षीय बालक जैद अचानक लापता हो गया। नदीम को पता चला तो वो बहुत परेशान हो गया। एहसान को पता चला तो वो नदीम के साथ जैद को ढूढ़ने शाम करीब तीन बजे बाइक लेकर निकल पड़े। काफी देर तक बच्चे को दोनों तलाशते रहे। इसी दौरान एहसान अचानक गायब हो गया। बच्चे के अचानक गायब होने की सूचना पुलिस को दी गई तो पुलिस भी तुरंत हरकत में आ गई।
पुलिस के छानबीन करने पर मोहल्ले में ही स्थित एक मकान के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली गयी। फुटेज को देख पुलिस भी रह गयी दंग एहसान ही बच्चे को अपने साथ लेकर जाता हुआ नजर आ रहा है इस फुटेज में। सूत्रों से पता चला कि शाम करीब चार बजे एहसान के मोबाइल की लोकेशन सहारनपुर रेलवे स्टेशन पर मिली। रात करीब बारह बजे एहसान को देवबंद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस के एहसान से पूछताछ करने पर पता चला कि एहसान ने बच्चे को तालाब में डूबोकर उसकी हत्या की है। एहसान की निशानदेही पर देवबद के मोहल्ला कोला बस्ती स्थित तालाब से बच्चे का शव बरामद हुआ है बच्चा एहसान से परिचित था इसलिए उसके साथ जाने को आसानी से राजी हो गया। पुलिस ने अपहरण और हत्या करने के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या के कारणों के पीछे अभी तक मात्र तीन हजार रुपए के लेन-देन की बात सामने आई है।

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW