हिंदुत्व के फायरब्रांड टी राजा सिंह फिर बने विधायक.. जातिवादी राजनीति के बजाय सदा अड़े रहे उग्र हिंदुत्व पर

जब देश में जातिवादी राजनीति चरम पर थी, उस समय भी वह उग्र तथा द्रढ़ हिंदुत्व के मुद्दों पर अटल रहा. वर्तमान में भी देश की राजनीति सवर्ण-दलित, अगड़ों-पिछड़ों के इर्द गिर्द घूम रही है, उस समय भी उसके जेहन में, उसकी रग-रग में हिंदुत्व ही दौड़ रहा है. जब जब भी किसी ने हिन्दुत्व के खिलाफ जाने का काम किया, वह हमेशा धर्म रक्षार्थ-हिंदुत्व की रक्षार्थ आगे आया. उसके हिंदुत्व के प्रति इसी समर्पण तथा निष्ठा को जनता ने एक बार पुनः स्वीकार किया है तथा उसको फिर से विधानसभा चुनावों में जीत दिलाते हुए विधायक बनाया है.

हम बात कर रहे हैं हिंदुत्व के फायरब्रांड चेहरा माने जाने वाले भारतीय जनता पार्टी के नेता टाइगर राजा सिंह की जो तेलंगाना की गोशामहल विधानसभा सीट से एक बार पुनः विधायक बने हैं. टाइगर राजा सिंह जातिवादी राजनीति के बजाय हमेशा उग्र हिंदुत्व पर अड़े रहने वाले नेता माने जाते हैं. टाइगर राजा सिंह को सिर्फ तेलंगाना में ही नहीं बल्कि देशभर में हिन्दुत्व का बड़ा चेहरा माना जाता है जो हमेशा से गौ, गंगा तथा गायत्री के लिए सबसे अग्रिम पंक्ति में खड़े रहते हैं.

टाइगर राजा सिंह की जीत उन लोगों को भी एक जवाब हो सकता है जो कहते हैं हिंदुत्व के मुदद्दों पर चुनाव नहीं जीता जा सकता है. टाइगर राजा सिंह की जीत से स्वयं भाजपा भी सबक ले सकती है क्योंकि भाजपा अपनी सत्ता वाले तीन राज्यों में चुनाव हारती हुई दिख रही है तथा सोशल मीडिया पर इस बात की चर्चा है कि हिन्दुत्व के मुद्दों से दूरी बनाना भाजपा को भरी पड़ा है. लेकिन टी राजा सिंह ने हिन्दुत्व को नहीं छोड़ा और उन्होंने तेलंगाना में एक बार फिर जीत हासिल की.

Share This Post