Breaking News:

पिछली सरकारों में नजरबंद होने वाला यासीन मलिक मोदी सरकार में हुआ गिरफ्तार, एक-एक करके लग रहा है सबका नंबर

विश्व का सबसे प्रमुख आतंकवादी और उग्रवादी संगठन जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) प्रमुख यासीन मलिक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जानकारी के मुताबिक, मलिक को मैसुमा स्थित उसके घर से पुलिस ने हिरासत में ले लिया। आंतकी यासीन मलिक को गिरफ्तार करने के बाद उसे केंद्र जेल में भेज दिया गया। आपको बता दें कि यासीन मलिक एक साल से ज्यादा समय से हुर्रियत नेताओं के साथ मिलकर कश्मीर घाटी में अलगाववादी प्रतिरोध का संचार कर रहा था। यासीन मलिक ने शुक्रवार को ही पुलिस कर्मचारियों को भी चकमा देकर चरार-ए-शरीफ में शेख नुरूद्दीन वली की दरगाह में एक बड़ी रैली को संबोधित किया था। 
जिसके बाद से ही पुलिस यासीन मलिक को गिरफ्तार करने की कोशिश की। पुलिस को खबर मिली थी कि अलगाववादी नेता अपने मनसूबों को पूरा करने के लिए ईद के पहले तनाव की स्थिति बना सकते हैं, इसीलिए ईद के दिन कश्मीर के हालत न बिगड़े और शांति कायम रहे इस वजह से पुलिस ने हुर्रियत अलगाववादी नेताओं को घर पर नजरबंद कर दिया। मलिक और हुर्रियत कांफ्रेंस के दोनों गुटों के नेता सैयद अली शाह गिलानी और मीरवाइज फारूक ने दोनों आतंकवादियों के मारे जाने तथा उसके खिलाफ प्रदर्शन करने वालों पर बल प्रयोग में घाटी में दो दिन तक विरोध जताया। कश्मीर का हर आम नागरिक इस मामले को निंदनीय बता रहा है।  
Share This Post