सोनभद्र गोलीकांड में 10 लोगों की मौत के लिए जिम्मेदार है कांग्रेस- योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में दो पक्षों में हुए जमीनी विवाद में 10 लोगों की ह्त्या के बाद देश में सियासी तूफ़ान आया हुआ है. विपक्षी दल जहाँ इस घटना को लेकर राज्य की योगी सरकार को निशाने पर लेते हुए राजनीति कर रहे हैं तो इस मामले अब सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा बयान दिया है. सोनभद्र गोलीकांड पर बयान देते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि इस घटना के लिए कांग्रेस जिम्मेदार है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कांग्रेस के शासन काल के दौरान वनवासियों की जमीन को एक सोसायटी के नाम कर दिया गया, जिसके परिणामस्वरुप अब ये घटना हुई. सीएम ने कहा कि घटना की जांच के लिए एक तीन सदस्‍यीय जांच कमिटी बनाई गई है जो 10 दिन के अंदर अपनी रिपोर्ट देगी. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शुक्रवार को एक संवाददाता सम्‍मेलन में कहा कि सोनभद्र की घटना दुर्भाग्‍यपूर्ण है. 1955 से 1989 तक यह जमीन आदर्श सोसायटी के नाम पर थी. 1989 में यह जमीन एक व्‍यक्ति के नाम पर चढ़ा दिया.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा कि आदर्श सोसायटी के नाम जमीन रहने पर भी यहां आदिवासी खेती करते थे और कुछ लगान सोसायटी को देते थे. जिन लोगों ने इस जमीन को अपने नाम किया था, वे इस जमीन पर कब्‍जा नहीं कर पाए. उन्‍होंने कहा कि 1989 में इसे दूसरे को बेच दिया. वनवासी इस जमीन पर खेती करते रहे. इस पूरे प्रकरण की तह में जाएं तो 1955 में कांग्रेस की सरकार के दौरान स्‍थानीय लोगों की जमीन को हड़पने के लिए ग्राम समाज की जमीन को आदर्श सोसायटी के नाम पर दिया गया. इस जमीन को बाद में 1989 में बिहार के एक आईएएस के नाम पर कर दिया जो गलत था. उस समय भी कांग्रेस की सरकार थी.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा कि बिहार के अधिकारी ने कब्‍जा नहीं कर पाने पर इस जमीन को वर्ष 2017 ग्राम प्रधान को बेच दिया. इस मामले कई मुकदमे चलते रहे. उन्‍होंने कहा कि इस पूरे प्रकरण में 1955, 1989 और 2017 में हुई हरेक घटना की जांच जरूरी है. यह गंभीर प्रकरण है और 3 सदस्‍यीय कमिटी बनाई गई है. पूरे मामले की जांच चल रही है और कमिटी 10 दिन के अंदर अपनी रिपोर्ट देगी. सीएम योगी ने कहा क‍ि इस पूरे मामले में कोई भी व्‍यक्ति कितना भी बड़ा हो, उसके खिलाफ सख्‍त कार्रवाई होगी.

बता दें कि इससे पहले उत्‍तर प्रदेश में कानून व्‍यवस्‍था को लेकर विपक्षी दलों ने विधानसभा के अंदर जमकर हंगामा किया. समाजवादी पार्टी समेत अन्‍य दलों के नेता सदन के अंदर खड़े हो गए और नारेबाजी करने लगे. विपक्षी सदस्‍य विधानसभा अध्‍यक्ष हृदय नारायण दीक्षित के आसन तक पहुंच गए. विपक्ष के हंगामे के समय मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ सोनभद्र की घटना पर अपना बयान दे रहे थे लेकिन विपक्ष के हंगामे के कारण सीएम योगी अपना बयान नहीं दे सके. बाद में उन्‍होंने संवाददाता सम्‍मेलन करके अपनी बात रखी.

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW