आप विधायक अमानतुल्ला का इस्तीफा, विश्वास के खिलाफ लगाए गए आरोपों पर कायम

नई दिल्ली : दिल्ली नगर निगम चुनावो में मिली करारी हार के बाद आम आदमी पार्टी में उथल पुथल मच गई है। इसी घमासान के चलते अमानतुल्लाह खान आप पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान ने पार्टी से जुड़ी निर्णय लेने वाली सर्वोच्च संस्था पीएसी से सोमवार को इस्तीफा दे दिया। 
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार शाम पार्टी नेताओं की बयानबाजी के संदर्भ में पीएसी की बैठक बुलाई थी लेकिन विश्वास उसमें नहीं पहुंचे। विश्वास की मांग थी कि अमानतुल्लाह खान को पार्टी से निकाला जाए। दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह द्वारा मनाने की कोशिशों के बावजूद विश्वास पीएसी बैठक में नहीं पहुंचे। 
वहीं, अमानतुल्लाह खान ने बैठक की शुरुआत में ही अपना इस्तीफा सौंप दिया और तत्काल बाहर चले गए। इस पर अमानतुल्लाह ने कहा कि वह अपने स्‍टैंड पर कायम है। विश्वास ने अपने जन्मदिन पर अजित डोभाल और आरएसएस कार्यकर्ताओं को बुलाया था। आखिर उन्हें आप के विधायकों और कार्यकर्ताओं का ख्याल क्यों नहीं आया…वो भी ऐसे वक्त में जब बीजेपी के निर्देश पर पुलिस ने हमारे खिलाफ अभियान चलाया हुआ है। 
गौरतलब है कि इससे पहले अमानतुल्लाह ने रविवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास को भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का “एजेंट” कहा था। खान ने आरोप लगाया था कि विश्वास आप को तोड़ना चाहते हैं।
Share This Post