महिला खिलाड़ी को हिजाब के कारण नहीं खेलने को मिला बास्केटबाल का फाइनल

वॉशिंगटन : अमेरिका के एक हाईस्कूल में पढ़ने वाली 16 साल की एक मुस्लिम लड़की जेनान हायेस को हिजाब पहनने के कारण बास्केटबॉल मुकाबले के फाइनल्स में खेलने से रोक दिया गया। लड़की ने खेल के पूरे सीजन में हिस्सा लिया था। जेनान हायेस मैरीलैंड में गेथ्सबर्ग के वाटकिंस मिल हाईस्कूल में पढ़ती हैं और बास्केटबॉल खिलाड़ी हैं। जेनन हेस ने बिना किसी समस्या के अपने हाईस्कूल में सीजन के पहले 24 गेम खेले।

मगर, कुछ हफ्ते पहले उसे हेडस्कार्फ पहनने के कारण बास्केटबॉल खेल खेलने से रोक दिया गया। लेकिन इस हफ्ते जब वह फाइनल्स में पहुंची तो उन्हें मैच खेलने से रोक दिया गया। उन्हें बताया गया कि हिजाब पहनने के कारण उनपर रोक लगाई गई है। उन्हें 3 मार्च को गेथेरबर्ग में रीजनल हाई स्कूल चैम्पियनशिप में कभी नहीं खेलने दिया गया। कोचों के मुताबिक, उन्हें कहा गया कि जेनान सिर में स्कार्फ बांधने के कारण नहीं खेल सकती।

कोच दोनिता एडम्स ने कहा कि हमें कभी इस नियम के बारे में सूचना नहीं दी गई। हमें सिर्फ यही कहा गया कि जेनान को मैच में उतरने की स्वीकृति नहीं दी जा रही है। इसके बाद कोच को जेनान को मैच से बाहर बैठाने के लिए मजबूर होना पड़ा। उन्होंने कहा कि मैं उसकी ओर नहीं देखना चाहती क्योंकि उसे नहीं बता सकती कि वह क्यों नहीं खेल पाई। उल्लेखनीय है कि हाल में ब्रिटेन ने अपने देश की मुस्लिम तैराकों को बुरकिनी पहनने की छूट दी है।

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW