बहुत बड़ी शिक्षा दे गया एक छोटा सा देश अफगानिस्तान.. काश कि कुछ लोग उसे समझ पाते

भारत मे 4 जून को क्रिकेट मैच का कुछ के ऊपर बेहद रोमांच सवार है ..पाकिस्तान से होने वाले क्रिकेट को देखने के लिए तमाम लोगों ने अभी से छुट्टी आदि की प्लानिग भी कर रखी है.. अच्छे अच्छे लोगों ने अपने बड़े बड़े काम भी उस दिन बन्द रखने का फैसला किया है क्योंकि उस दिन वो मैच का आनंद उठाएंगे ..

यहां ये ध्यान रखने योग्य बात है कि आज भी हमारे जवानों ने अपनी जान पर खेल कर 5 पाकिस्तानी सैनिकों को जहन्नुम पहुचाया है .. अभी उस घर मे सिसकियां चल रही हैं जिनके बेटे या पति के सर पाकिस्तानी जवान काट कर ले गए थे ..अभी अभी सब्ज़ार आतंकी की मौत को पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र में ले गया .. और कुलभूषण जाधव , हमारी सेना का पूर्व जवान उनके कैद में अपनी फाँसी की हाँ या ना के फेर में जी रहा ..

पर उन्हें सब कुछ भुला कर भारत का बहुसंख्यक वर्ग क्रिकेट , कला आदि की चर्चा कर के बस मनोरंजन को प्राथमिकता दे रहा ..अभी भारत के आगे बेहद अदने से देश अफगानिस्तान में एक ब्लास्ट हुआ है  .. काबुल में कई अफगान मारे गए और अफगानी सुरक्षा एजेंसियों ने इसमें पाकिस्तान की मिलीभगत का दावा किया …

फिर इतना छोटा सा देश अफगानिस्तान अपने स्वाभिमान और खुद्दारी पर आ गया ..उसकी सरकार से पहले उसके क्रिकेट खिलाड़ी जो भारत के खिलाड़ियों की अपेक्षा बहुत गरीब हैं , उन्होंने ही पाकिस्तान के साथ खेलने से मना कर दिया और अफगान सरकार ने अपने खिलाड़ियों के साथ अपनी जनता के मन को ध्यान में रखते हुए पाकिस्तान के साथ हर खेल सम्बन्ध समाप्त करने की ना सिर्फ घोषणा की अपितु उस पर फौरन अमल भी कर दिया …

इस घटना के बाद पाकिस्तान ने बहुत सफाई दी इस आतंकी घटना में हाथ न होने की पर अफगान सरकार और अफगान जनता टस से मस भी नहीं हुई जबकि अभी हाल ही में अफगान प्रीमियर लीग में पाकिस्तानी खिलाड़ियों के शामिल होने पर विचार चल रहा था .. अफगानिस्तान के इस बेहद खुद्दारी भरे कदम की पूरी अमन पसन्द दुनिया मे दिल खोल कर प्रशंसा हो रही है ..

Share This Post