Breaking News:

खेल को कलाकारी से जोड़ने वालों की आंखें खुल जाएंगी इस घटना से .. आप खुद कह देंगे कि हर तरफ फैल चुका है जहर

ये घटना सुदर्शन न्यूज के क्रिकेट अपडेट ना देने के निर्णय की जहाँ एक तरफ पुष्टि भी करेगी वहीं दूसरी तरफ़ खेल को देश की सीमाओं में ना बांधने व उसका कला के रूप में मनोरंजन करने की झूठी व नकली सलाह देने वालों के लिए ऐसा जवाब है जिसके बाद तमाम नकली आवाजें आना अचानक से ही बन्द हो जायेगीं …

मामला आस्ट्रेलिया से है . यहां एक फुटबॉल सीरीज चल रही है जिस प्रतियोगिता में दुनिया के लगभग हर देश शामिल हैं .. हर मैच शुरू होने से पहले लंदन आतंकी हमले में मारे गए निर्दोष व निरापराध लोगों को श्रद्धांजलि दिया जा रहा था .. भारत मे भी पेशावर से लन्दन तक हर आतंकी हमले के बाद मोमबत्ती जलाने का व उन्हें श्रद्धांजलि देने का प्रावधान है , खैर ऑस्ट्रेलिया में हर मैच की शुरूआत से पहले लंदन हमलों में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देने का नियम बनाया गया ..

हर देश के खिलाड़ियों ने इस नियम का पालन किया व मैच से पहले 2 मिनट का मौन रख कर लंदन में आतंकियों के हाथ मारे गए निर्दोषों की आत्मा शांति हेतु प्रार्थना की .. पर जब इस्लामिक मुल्क और इस्लाम के केंद्र बिंदु सऊदी अरब की फुटबॉल टीम का नम्बर आया तो उस पूरी टीम ने 2 मिनट नहीं 2 सेकेंड का भी मौन रखने से मना कर दिया ..

इस्लाम के कुछ जानकारों के हवाले से यह माना जा रहा है कि वो लंदन में आतंकी हमलों के शिकार लोगों को “काफ़िर” मानते हैं जिनकी मौत पर शोक करना इस्लामिक रूप से मना है भले ही वो दोषी हों या निर्दोष .. इसीलिए सऊदी अरब की फुटबाल टीम तमाम लोगों के आग्रह के बाद भी टस से मस नहीं हुई और 2 मिनट ही नहीं 2 सेकेंड का भी मौन रखने व मृत आत्माओं की शान्ति की दुआ करने से साफ इंकार कर दिया ..

ये घटना पूरी दुनिया को झकझोर कर रख चुकी है .. खास कर उन सभी को जिन्होंने बड़े बडे व्याख्यानों में खेल को देश , जाति , मज़हब से अलग रख कर सिर्फ एक कला के तौर पर आनन्द उठाने की चीज बताया था .. इस मामले पर फिलहाल एक भी खेलप्रेमी या बुद्धिजीवी एक भी शब्द बोलने को तैयार नहीं है ..

Share This Post