धन के भूखे क्रिकेटरों पर सच साबित हो रहा है सुदर्शन का दावा. अर्जुना राणातुंगा ने लगा दी है मुहर…

क्रिकेट के खेल में बहुत पहले से सट्टा का खेल भी खेला जाता है और समय-समय पर सट्टा खेल में संलिप्त खिलाड़ी, सटोरियों का पर्दाफाश होता रहता है। मैच फिक्सिंग जैसे मामले में विश्व के कई दिग्गज खिलाडी भी फंस चुके है जैसे साउथ अफ्रीका के कप्तान रहे हैन्सी क्रोनिए और भी अन्य है। हाल ही में सुर्खियों में छाए श्रीलंका क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान अर्जुना राणातुंगा का दावा है कि 2011 मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला गया फ़ाइनल मैच पूरी तरीके से फिक्स था इसिलए वो चाहते है की मैच की जाँच हो। 
आपको बता दें कि भारत ने 2011 विश्व कप के मैच में श्रीलंका को मात देते हुए 28 साल बाद विश्व कप पर कब्जा जमाया था। 53 वर्षीय राणातुंगा ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर सिंहली भाषा में एक वीडियो पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने कहा कि श्रीलंका की 6 विकेट की हार से वो हैरान थे। श्रीलंका के सफलतम कप्तानों में शामिल राणातुंगा ने कहा कि मैं उस समय भारत में कमेंट्री कर रहा था। जब भारत जीता तो मुझे श्रीलंका की हार पर दुख हुआ और थोड़ा शक भी। 1996 विश्व कप विजेता श्रीलंकाई कप्तान ने कहा कि इसकी जांच होना चाहिए कि आखिर 2011 विश्व कप के फाइनल में श्रीलंका कैसे हार गया। 
उन्होंने कहा कि मैं सभी खुलासे अभी नहीं कर सकता पर एक दिन मैं इससे पर्दा जरूर उठाऊंगा। इसकी जांच जरूर होनी चाहिए। राणातुंगा ने किसी क्रिकेटर का नाम तो नहीं लिया, लेकिन उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों को इस मेल को नहीं छुपाना चाहिए। याद हो कि श्रीलंका ने फाइनल में पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में 274/6 का स्कोर बनाया था। इसके बाद उसने सचिन तेंदुलकर और वीरेंदर सहवाग को जल्दी-जल्दी आउट करके मैच पर अपनी पकड़ मजबूत कर ली थी। इसके बाद भारत ने गौतम गंभीर और तत्कालीन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की पारियों की मदद से मैच में वापसी करते हुए अपनी पकड़ बनाई। 
भारत के ओपनर गौतम गंभीर (97) और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (नाबाद 91) की बेहतरीन पारियों की मदद से मेजबान टीम ने हासिल किया और 28 साल के सूखे को ख़त्म करते हुए दूसरी बार विश्व चैंपियन बना। इसके बाद स्थानीय मीडिया ने फिक्सिंग का हवाला देते हुए श्रीलंका पर मैच गंवाने का आरोप लगाया। मगर इसकी कोई आधिकारिक जांच नहीं हुई और यही बात राणातुंगा को अभी तक चुभती है। अर्जुन राणातुंगा के आरोप में कितनी सच्चाई है इसकी अभी तक पुष्टि नहीं हुई है। क्रिकेट के खेल में बहुत पहले से सट्टा का खेल भी खेला जाता है। 
समय समय पर सट्टा खेल में संलिप्त खिलाड़ी,सटोरियो का पर्दाफाश होता रहता है। मैच फिक्सिंग जैसे मामले में विश्व के कई दिग्गज खिलाडी भी फंस चुके है जैसे साउथ अफ्रीका के कप्तान रहे हैन्सी क्रोनिए और भी अन्य है । हाल  ही में सुर्खियों में छाए श्रीलंका क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान अर्जुना राणातुंगा का दावा है कि  2011 मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला गया  फ़ाइनल मैच पूरी तरीके से फिक्स था इसिलए वो चाहते है की मैच की जाँच हो। हालाँकि आपको बता दे कि भारत ने 2011 विष्व कप के मैच में श्रीलंका को मात देते हुए 28 साल बाद विश्व कप पर कब्जा जमाया था। 
Share This Post