पाकिस्तान को रौंद चुकी महिला टीम अब भिड़ रही है श्रीलंका से

महिला विश्व कप में भारत की टीम ने पिछले मैच में पाकिस्तान को पस्त कर शानदार फॉर्म में दिख रही है. आज टीम इंडिया ने जीत की लय को बरकरार रखते हुए श्रीलंका से भिड़ रही है। श्रीलंका के खिलाफ बुधवार को काउंटी ग्राउंड पर होने वाले महिला विश्व कप के इस मैच में भारत की निगाहें मिताली राज, हरमनप्रीत कौर और झूलन गोस्वामी सहित तीन अन्य महिला खिलाड़ियों पर रहेंगी, जिन्होंने पिछले मैचों में शानदार प्रदर्शन किया है।
इनके दम पर भारत श्रीलंका से पिछले विश्व कप की हार का हिसाब बराबर करने के इरादे से उतरेगा. आपको बता दें कि भारतीय टीम ने श्रीलंका के खिलाफ टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया है. लगातार तीन जीत से भारतीय टीम का आत्मविश्वास से भरी हुई है. भारतीय टीम जीत के लय को बरकरार रखने की कोशिश करेगी. श्रीलंका की टीम का प्रदर्शन निरशाजनक रहा है उसने टूर्नामेंट में अपने तीनों मैच हारे हैं.
श्रीलंका ने पिछले विश्व कप में भारत को मुंबई के ब्रेबोर्न स्टेडियम में खेले गए मैच में 283 रन का बड़ा लक्ष्य दिया था, जिसके जवाब में भारतीय टीम केवल 138 रन पर सिमट गई थी. इस मैच के बाद कई बड़े नाम भारत के लिए दोबारा नहीं खेल पाए थे, लेकिन अब स्थिति एकदम अलग है. लगातार तीन जीत हासिल करने के बाद भारतीय टीम विजय रथ पर सवार है. उसने पिछले तीनों मैचों में हरफनमौला खेल का प्रदर्शन करके सबका दिल जीत लिया है.
बल्लेबाजी भारत की ताकत है. सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना तीन मैचों में 198 रन बनाकर टूनार्मेंट में चौथी सर्वश्रेष्ठ स्कोरर हैं. पूनम राउत और मिताली राज भी अब तक टीम की भरोसे की बल्लेबाज साबित हुई हैं. बाएं हाथ की स्पिनर एकता बिष्ट और 19 साल की ऑफ स्पिनर दीप्तिी शर्मा ने अपनी शानदार गेंदबाजी से प्रभावित किया है. दोनों छह-छह विकेट हासिल करके इस टूनार्मेंट में अब तक सबसे ज्यादा विकेट चटकाने वाली खिलाड़ी हैं.
एकता ने अपने सामने पाकिस्तानी बल्लेबाजों को टिकने ही नहीं दिया था, जिससे वह उस मैच में पांच विकेट अपने नाम करने में कामयाब हुई थी. वहीं दीप्ती ने तीनों मैचों में लगातार अच्छा प्रदर्शन करके विपक्षी टीमों की नाक में दम कर दिया था. तेज गेंदबाज झूलन के लिए यह विश्व कप अब तक काफी शांत रहा है, लेकिन वह श्रीलंका के खिलाफ अब तक कुल 20 विकेट हासिल करके सबसे अधिक विकेट लेने के मामले में दूसरे स्थान पर रही हैं.
भारतीय गेंदबाजों को अपने फील्डरों का अच्छा साथ मिला है, जो अब तक चार रन आउट करके अपनी उपयोगिता दिखा चुके हैं. वहीं श्रीलंका की टीम इस विश्व कप में जूझती दिखाई दे रही है. उसे तीनों मैचों में हार का सामना करना पड़ा है. उसके लिए राहत की बात केवल इतनी है कि हर मैच में उसकी हार का अंतर कम होता गया है. वह न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने पहले मैच में नौ विकेट से हारी, दूसरे में ऑस्ट्रेलिया से आठ विकेट से और तीसरे मैच में इंग्लैंड से सात विकेट से पराजित हुईं.
राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW