अब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने दिखाए तेवर, माँगा बीसीसीआई से 450 करोड़ का मुआवजा

पाकिस्तान
ने  2014 से
2023 के बीच छह द्विपक्षीय सीरीज खेलने के
लिए किए गए करार का सम्मान नहीं करने के लिए ये करीब 450 करोड़ रुपए के मुआवजे की मांग की
है।  भारतीय क्रिकेट बोर्ड को हाल ही में
पीसीबी  नोटिस भेजा और  शिकायत कि भारतीय टीम ने नवंबर 2014 और
दिसंबर 2015 की सीरीज नहीं खेलने कि वजह से
उन्हें 69576405 डॉलर का नुकसान हुआ है।

बीसीसीआई
को तीन मई को भेजे गए नोटिस के मिलने के सात दिन के अंदर जवाब भेजते हुए कहा
कि  ”हमारे
कानूनी सलाहकार ने लंदन में एक प्रतिष्ठित कानूनी फर्म से सलाह मश्विरे के बाद
कानूनी नोटिस भेजा है जिसमें भारतीय बोर्ड से मुआवजा हासिल करने के लिये एक मजबूत
कानूनी मामला तैयार किया है।

साथ
ही पाकिस्तान का ये भी कहना है कि बीसीसीआई ने समझौते का सम्मान नहीं किया जबकि
उसने आईसीसी अधिकारियों की मौजूदगी में इस पर हस्ताक्षर भी किये थे। 

पीसीबी
के मुताबिक दोनों देशों के बोर्डों के बीच इस बात पर 2014 में
हस्ताक्षर किए थे, जिसमें  पाकिस्तान ने आईसीसी में संचालन एवं वित्तीय
मॉडल में ‘बिग थ्री’ का समर्थन किया था। पीसीबी ने दावा
किया कि उसे भारत के सीरीज खेलने से इनकार करने के कारण 20 से 30 करोड़ डालर का नुकसान हुआ जिसकी मेजबानी पाकिस्तान को करनी थी।

Share This Post