जेटली जी के निधन पर भावुक हुए गौतम गंभीर व वीरेंद्र सहवाग.. ट्विटर पर लिखा कुछ ऐसा जो बताता है जेटली जी की महानता


भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता और पूर्व वित्त मंत्री अरुण  जेटली जी का आज 24 अगस्त दिन शनिवार को एम्स(AIIMS) अस्पताल में निधन हो गया. जेटली लंबे समय से बीमार चल रहे थे. उन्हें कुछ दिन पहले सांस लेने की तकलीफ के चलते AIIMS अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहाँ आज दोपहर 12 बजकर 7 मिनट उन्होंने अपने जीवन की आख़िरी सांस ली तथा दुनिया से विदा हो गये.

अरुण जेटली राजनेता तो थे ही, इसके साथ-साथ खेल से भी जुड़े रहे थे. वह साल 1999 से लेकर 2013 तक दिल्ली डिस्टिक क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे थे. क्रिकेट प्रेमी होने के नाते और दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन DDCA को एक दशक से ज्यादा समय तक अपनी सेवाएं देने वाले अरुण जेटली के निधन के बाद क्रिकेट जगत के दिग्गजों ने दुख जताते हुए काफी भावुक ट्वीट किए हैं. पूर्व क्रिकेटर वीरेन्द्र सहवाग, गौतम गंभीर, मोहम्मद कैफ, आकाश चोपड़ा, वीवीएस लक्ष्मण, हर्षा भोगले समेत तमाम दिग्गजों ने अरुण जेटली के निधन पर ट्वीट किया है. सहवाग और गंभीर ने जेटली जी के निधन पर जो लिखा है वो जेटली जी की महानता को बताता है.

पूर्व क्रिकेटर और मौजूदा भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने अरुण जेटली के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए लिखा है, “एक पिता आपको बोलना सिखाता है, लेकिन पिता समान आपको यह कला सिखाता है कैसे बोलना है। एक पिता आपको चलना सिखाता है, लेकिन पिता समान सिखाता है कि कैसे चलना है। एक पिता आपको नाम देता है, लेकिन पिता समान आपको पहचान देता है। मेरे पिता समान अरुण जेटली नहीं रहे। मुझसे मेरा एक हिस्सा दूर चला गया है। आरआईपी सर।”

वीरेंद्र सहवाग ने पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर ट्वीट करते हुए लिखा है, “अरुण जेटली जी के जाने का बहुत दुख है। उन्होंने दिल्ली के क्रिकेटरों को भारत का प्रतिनिधित्व करने में अहम भूमिका निभाई। एक वक्त था, जब दिल्ली के क्रिकेटरों को हाई लेवल तक जाने का मौका नहीं मिल पाता था, लेकिन डीडीसीए की लीडरशिप के दौरान उन्होंने दिल्ली के क्रिकेटरों को यह मौके दिलवाए। वह खिलाड़ियों की जरुरतें सुनते थे और उन्हें हल भी करते थे। मैं निजी तौर पर उनके साथ बेहद खूबसूरत संबंधों को शेयर करता हूं। मेरी प्रार्थना और संवेदना उनके परिवार के साथ है।”

बता दें कि जेटली जितनी राजनीति में पकड़ रखते थे उतना ही उनका योगदान दिल्ली क्रिकेट में भी रहा. अरुण जेटली ने 13 साल दिल्ली क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष के तौर पर काम किया. साल 1999 से लेकर 2012 तक जेटली ने डीडीसीए के अध्यक्ष के तौर पर काम किया. भारतीय क्रिकेट के कई दिग्गजों को जेटली ने सराहा और उनको विश्व क्रिकेट में पहचान बनाने में अहम भूमिका निभाई.

भारतीय क्रिकेट टीम के ओपनर वीरेंद्र सहवाग को दुनिया के सबसे खतरनाक बल्लेबाजों में गिना जाता है. जेटली के कार्यकाल में ही सहवाग, गौतम गंभीर, शिखर धवन, विराट कोहली जैसे धुरंधर बल्लेबाज निकलकर सामने आए. सहवाग और गंभीर ने लंबे वक्त तक टीम की ओपनिंग की थी. जेटली खुद दिल्ली के उभरते हुए खिलाड़ियों की पैरवी बीसीसीआई में किया करते थे. वहीं आशीष नेहरा और इशांत शर्मा जैसे शानदार गेंदबाज भी जेटली के डीडीसीए अध्यक्ष रहते ही उभरकर विश्व क्रिकेट में पहचान बनाने में कामयाब हुए. इन सभी को भारतीय टीम तक के सफर तय करने में जेटली का खासा योगदान रहा.

किसी भी खिलाड़ी की मदद करने में जेटली हमेशा आगे रहते थे. दिल्ली के गेंदबाज आशीष नेहरा अपने करियर के दौरान चोटों से लगातार जूझते रहे. नेहरा जब टीम में खेलते हुए चोटिल हुए थे तब उनके ऑपरेशन का बीड़ा जेटली ने ही उठाया था. सहवाग, गंभीर तथा नेहरा तो आज भारतीय टीम से रिटायर हो चुके हैं लेकिन भारतीय टीम के वर्तमान कप्तान विराट कोहली, सलामी बल्लेबाज शिखर धवन तथा तेज गेंदबाज इशांत शर्मा आज भारतीय टीम की रीढ़ बने हुए हैं तो इसका श्रेय भी अरुण जेटली जी को जाता है. जेटली जी के DDCA प्रमुख रहते ही ये तीनों महानतम क्रिकेटर उभर कर सामने आये, टीम इंडिया में जगह बनाई तथा आज टीम के मजबूत स्तंभ हैं.

अलविदा जेटली जी


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...