10 दिसम्बर– क्रांतिवीर प्रफुल्ल चाकी जयंती. अंग्रेजो को धूल चटाया ये योद्धा धोखा खाया घर के गद्दारों से. तथाकथित इतिहासकार बताएं कि कौन था वो गद्दार दरोगा बनर्जी ?

केवल एक ही परिवार की चाटुकारी और मात्र चरखे के गुण गाने में व्यस्त झोलाछाप और चाटुकारी से सनी कलम

Read more

12 नवम्बर: पुण्यतिथि पर नमन है काशी हिंदू विश्वविद्यालय के संस्थापक, धर्मनिष्ठ व गौ भक्त महामना मदन मोहन मालवीय जी को.. इन्हें भी भुला दिया गया था सरदार पटेल की तरह

ये उन नामों में से है जिन्हें सरदार बल्लभभाई पटेल की तरह से ही विस्मृत कर दिया गया कुछ चाटुकार

Read more

11 नवम्बर: केरल के हिन्दू सम्राट पष़श्शि राजा के नेतृत्व में अंग्रेजो के खिलाफ आज ही हुआ था “कुण्डरा विद्रोह”, जिसमें बलिदान हुए थे अनगिनत योद्धा

कुण्डरा विद्रोह ? यकीनन इसका नाम आपने सुना नही होगा और अगर सुना भी होगा तो बहुत कम क्योंकि इस

Read more

23 अक्टूबर: जन्मजयंती कित्तूर की रानी चेनम्मा, नारी शक्ति की वो प्रतीक जिनके बाहुबल से कांपी थी ब्रिटिश सेना

ये भारत की तथाकथित सेकुलर राजनीति भले ही कुछ करवाये अन्यथा वीर वीरांगनाओं ने अपना कर्तव्य निभा ही दिया था..

Read more

19 अक्टूबर: जन्मजयंती वीरांगना मातंगिनी हाजरा.. जिन्होंने तीन गोलियां लगने के बाद भी हाथ से गिरने नहीं दिया तिरंगा तथा वंदेमातरम बोलते हुए ली अंतिम सांस

अगर आप मातंगिनी हाजरा जैसी भारत की वीरांगनाओं के शौर्य की गाथा सुनोगे तो शायद आपको “दे दी हमें आजादी बिना खड़ग

Read more

14 अक्टूबर: बलिदान दिवस पर नमन है क्रन्तिपुत्री दुर्गा भाभी को. हैली और टेलर जैसे क्रूर अंग्रजो को गोली मारने वालीं वो वीरांगना जो प्रेरणा थीं चन्द्रशेखर आज़ाद और भगत सिंह की

भारत की वो नारी शक्ति जिनको कभी ठीक से जानने ही नहीं दिया गया , वो वीरांगना जो सबके सामने

Read more

14 अक्टूबर: जन्मजयंती पर शत-शत नमन क्रांतिवीर लाला हरदयाल जी को..वो बलिदानी जिन्होंने ब्रिटिश धरती पर चढ़ कर वहीं से दी उनको चुनौती

आज़ादी के ठेकेदारों ने जिस वीर के बारे में नही बताया होगा , बिना खड्ग बिना ढाल के आज़ादी दिलाने

Read more

3 अक्टूबर: बलिदान दिवस राजा विजय सिंह, जिन्होंने 1824 में ही अंग्रेजों के खिलाफ फूंक दिया था स्वतंत्रता का बिगुल.. इस युद्ध में खड्ग भी था और ढाल भी

अभी थोड़े समय में पहले अहिंसा और बिना खड्ग बिना ढाल वाले नारों और गानों का बोलबाला था . हर

Read more

29 सितंबर: बलिदान दिवस वीरांगना मातंगिनी हाजरा.. जिन्होंने तीन गोलियां लगने के बाद भी हाथ से गिरने नहीं दिया तिरंगा तथा वंदेमातरम बोलते हुए ली अंतिम सांस

अगर आप मातंगिनी हाजरा जैसी भारत की वीरांगनाओं के शौर्य की गाथा सुनोगे तो शायद आप “दे दी हमें आजादी बिना खड़ग

Read more

28 सितंबर: जन्मजयंती आज़ादी के असल हकदार युवाओं के शौर्यपुंज, क्रांतिवीर भगत सिंह जी

घोड़ी चढ़ दुल्हन लाते सभी , सूली चढ़ आजादी लाये कोई ….. वो परम बलिदानी जिसने अपनी जिंदगी ही नहीं

Read more