बलात्कार करने के लिए अहमद चुनता था एक मंदिर.. फिर चीखें गूंजती थी भगवान के आगे

शायद इससे बड़ी शर्मशार करने वाली तथा नारी स्वाभिमान को कुचलने वाली घटना आपने नहीं सुनी होगी. कुतुबुद्दीन अहमद को

Read more

मदरसे में पढ़ने वाले 19 से कम उम्र के बच्चों को बुझानी पड़ती थी मौलाना की हवस की आग.. वो मदरसा जिसे सब मानते थे पढ़ाई का केंद्र

मदरसा को तालीम का पाक स्थल माना जाता है. मदरसों के बारे में प्रचार किया जाता है कि मदरसों में

Read more

वो डरा हुआ होता तो सीधे पुलिस से फोन करके क्या ये कहता कि- “अहमद को पकड़ कर ठीक नहीं किया”

कथित बुद्धिजीवी तथा सेक्यूलर अक्सर किसी न किसी बहाने से ये ये राग अलापते रहते हैं कि देश में लोकतंत्र

Read more

80 साल की वृद्धा को भी नहीं छोड़ा चाँद ने.. हवस की आंधी में अब बच्चियों के बाद वृद्धाएं भी

आखिर वो कौन सी सोच है जो महिलाओं के खिलाफ अपनी व्यभिचारी सोच को बदलने का नाम नहीं ले रही

Read more

दुस्साहस तथा हैवानियत की सभी सीमायें पार कर गया दरिंदा आमिर.. घुस में घुसकर तबाह कर दी नाबालिग की जिन्दगी

आखिर वह कौन सी सोच है जिसके लिए वो नारी वर्ग मनोरंजन का साधन मात्र है..जो इंसान की जन्मदात्री होती

Read more

अहमद को अपना कार्यकर्ता बहुत विश्वास से बनाया था भाजपा ने.. अब वही बना पूरे एक प्रदेश में उनके लिए आफत

मोनजुर अहमद ने जब बीजेपी की सदस्यता ली तो बीजेपी को उम्मीद थी कि मोनजुर अहमद मुस्लिम समुदाय के बीच बीजेपी

Read more

पता नहीं कि अहमद ब्याज के पैसे को क्या समझता था कि पहले तो कर्ज ले लिया फिर ब्याज मांगने पर क़त्ल कर डाला सेक्यूलर जंगबहादुर का

उनका नाम जंगबहादुर था तथा उनके अंदर आज की कथित धर्मनिरपेक्षता कूट कूट कर भरी हुई थी. गाँव के ही

Read more

वो हिलाल भारत का ऐसा नेता था जिसको सब कहते थे सेक्यूलर.. लेकिन हिलाल सेक्यूलर नहीं था और न ही नमक हलाल

हिलाल उद्दीन अहमद, पूर्वोत्तर के राज्य असम का वो नेता जिसे सब लोग कथित गंगा-जमुनी तहजीब का रखवाला, कथित धर्मनिरपेक्षता

Read more

मां का बलात्कार घर में घुसकर कर रहा था अहमद नबी… बेटी ने छोड़ देने की गुहार लगाई तो उस पर भी टूट पड़ा

आखिर वो कौन सी सोच है जो हर नारी वर्ग को अपनी हवस की भूख मिटाने का साधन समझती है

Read more