29 जून- साथी बलिदान हो चुके थे लेकिन जूनून था दुश्मनों की लाश बिछाने का.. उन्हें मार कर आज अमर हो गये कारगिल के वीर कैप्टन “विजयंत थापर”

इन्हे न ही किसी प्रकार की आज़ादी या अखंडता की ठेकेदारी लेनी थी और न ही इन्हे कभी उसे बता

Read more

6 जून- जानवरों से भी ज्यादा हिंसक इंसानों के देश पाकिस्तान से भारत लाये गये थे 6 योद्धाओ के क्षत विक्षत शव. अमर बलिदानी कैप्‍टन सौरभ कालिया की टीम थी वो

वर्ष 1999 में हुआ कारगिल युद्ध न सिर्फ पाकिस्‍तान पर भारत की विजय गाथा का उदाहरण है बल्कि इसके साथ

Read more

Loading...