वो राज्य जहाँ पहली बार बताया गया कि गांधी की मौत हत्या नहीं बल्कि दुर्घटना

कल का दिन था जब नाथूराम को फांसी हुई थी.. इस दिन सोशल मीडिया पर नाथूराम के समर्थन में जिस

Read more

15 नवम्बर – आज फांसी फांसी हुई थी नाथूराम गोडसे को जिन्होंने मारा था गांधी को. वो गांधी जिन्हें गोडसे मानते थे देश विभाजन औ हिन्दुओ के नरसंहार का जिम्मेदार

यकीनन आज के स्वघोषित धर्म निरपेक्ष माहौल में संसद पर हमला करने वाले दरिन्दे अफजल गुरु की बरसी मनाना एक

Read more

कांग्रेस शासित प्रदेश में ही तोड़ डाली गई गांधी की मूर्ति.. मूर्ति मिली बिना सर के

कांग्रेस शासित राजस्थान के अजमेर जिले से गांधी की मूर्ति तोड़ने की घटना सामने आई है. घटना नसीराबाद शहर की

Read more

गांधी की मूर्ति लगाने का विरोध इस बार गोडसे के भक्तों ने नहीं बल्कि उन्होंने किया जिन पर गांधी के हैं बहुत से उपकार

जिनके लिए गांधी हिंदुस्तान के खिलाफ तक चले गये थे, आज वहीं के लोग गांधी की मूर्ति लगाये जाने के

Read more

सरकार पता लगाए कि कैसे ट्विटर के टॉप ट्रेंड में आया “गोडसे अमर रहें” – कांग्रेस

गांधी जयंती के दिन जिस प्रकार से ट्विटर के ट्रेंड में गोडसे अमर रहें टॉप में गया उसके बाद हर

Read more

सोनिया गांधी को दुर्गा माँ मान कर 20 साल से पूजा कर रहा ये कांग्रेसी.. सुबह नहाने के बाद लेता है उनका नाम, नवरात्रि भर रखता है उनके नाम का व्रत

भारत की राजनीति में किसी का समर्थक होना अपनी जगह एक अलग बात है . समर्थन में किसी पार्टी के

Read more

बापू भवन में घुस कर गांधी की फोटो पर लिख दिया – “देशद्रोही है ये”.. फिर फेंक दिया उनसे जुड़ा हर सामान.. यहाँ तक कि उनकी अस्थि राख भी

ये वो समय था जब भारत के प्रधानमन्त्री से ले कर दुनिया के कई बड़े नेता गांधी के लिए अपने

Read more

गांधी के सिद्धांतो को त्याग रही है कांग्रेस ? विधायक का एलान – “अधिकारियो को जूते से मारो”

ये एक नया रूप है कांग्रेस का जिसमे वो तमाम बातें दूर दूर तक नहीं हैं जो उसके मुखिया रहे

Read more

गांधी परिवार पर अब योगी का वार.. जानना चाहा कि देश की धैर्य की सीमा कब तक ?

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री तथा भारतीय जनता पार्टी के फायरब्रांड हिन्दू राष्ट्रवादी नेता योगी आदित्यनाथ ने गांधी परिवार पर करारा

Read more

18 अगस्त – स्वतंत्रता के असल हकदार नेताजी सुभाषचंद्र बोस जी बलिदान दिवस. वो महायोद्धा जो एक साथ 2 मोर्चों पर एक साथ लड़े.. पहला विदेशी अंग्रेजों से, दूसरा भारत के ही गद्दारों से..साथ मे आज़ादी के नकली ठेकेदारों से

वो अनंत काल तक गवाह रहेंगे आज़ादी के नकली ठेकेदारों के असली चेहरे का ..उन्हें अंग्रेजो से ज्यादा अंग्रेजों के

Read more

Loading...