Breaking News:

19 अक्टूबर: जन्मजयंती वीरांगना मातंगिनी हाजरा.. जिन्होंने तीन गोलियां लगने के बाद भी हाथ से गिरने नहीं दिया तिरंगा तथा वंदेमातरम बोलते हुए ली अंतिम सांस

अगर आप मातंगिनी हाजरा जैसी भारत की वीरांगनाओं के शौर्य की गाथा सुनोगे तो शायद आपको “दे दी हमें आजादी बिना खड़ग

Read more

14 अक्टूबर: जन्मजयंती पर शत-शत नमन क्रांतिवीर लाला हरदयाल जी को..वो बलिदानी जिन्होंने ब्रिटिश धरती पर चढ़ कर वहीं से दी उनको चुनौती

आज़ादी के ठेकेदारों ने जिस वीर के बारे में नही बताया होगा , बिना खड्ग बिना ढाल के आज़ादी दिलाने

Read more

29 सितंबर: बलिदान दिवस वीरांगना मातंगिनी हाजरा.. जिन्होंने तीन गोलियां लगने के बाद भी हाथ से गिरने नहीं दिया तिरंगा तथा वंदेमातरम बोलते हुए ली अंतिम सांस

अगर आप मातंगिनी हाजरा जैसी भारत की वीरांगनाओं के शौर्य की गाथा सुनोगे तो शायद आप “दे दी हमें आजादी बिना खड़ग

Read more

28 सितंबर: जन्मजयंती आज़ादी के असल हकदार युवाओं के शौर्यपुंज, क्रांतिवीर भगत सिंह जी

घोड़ी चढ़ दुल्हन लाते सभी , सूली चढ़ आजादी लाये कोई ….. वो परम बलिदानी जिसने अपनी जिंदगी ही नहीं

Read more

14 सितंबर: बलिदान दिवस वीर लाला जयदयाल, 1857 में खत्म कर दिया अत्याचारी मेजर बर्टन का परिवार और फिर हंस कर झूल गए फांसी पर

किसी लक्ष्य का ठेका ले लेना और फिर उस लक्ष्य को पूरा करना दोनों में बहुत अंतर होता है .

Read more

पहली बार जालियांवाला बाग़ नरसंहार के लिए एक ईसाई पादरी ने मांगी है माफी

जलियांवाला बाग़.. ये शब्द जेहन में आते ही भारतीयों की आँखों में आक्रोश की ज्वाला भड़क उठती है. ये वो

Read more

13 सितम्बर: बलिदान दिवस क्रान्तिवीर जतिंद्रनाथ दास. अंग्रेजों ने पागलखाने के डॉक्टर को बुला कर नसों में लगाए इंजेक्शन पर जुबान पर गूंजता रहा “वन्देमातरम”

किसने कहा की मिली थी आज़ादी हमे बिना खड्ग बिना ढाल , कैसे मान लें की क्रांतिकारी वो अपने रक्त

Read more

11 सितम्बर- जन्मजयंती, क्रांतिवीर बिनोय कृष्ण जी. क्रूर कर्नल सिम्पसन को मोक्ष देने वाले दूसरे चन्द्रशेखर आज़ाद, जो जीवित हाथ न आये अधर्मी ब्रिटिश सत्ता के

वो गाना याद होगा .. दे दी हमें आज़ादी बिना खड्ग बिना ढाल . यकीनन आप ने भी सुना होगा

Read more

10 सितम्बर: बलिदान दिवस, क्रांतिकारी जतींद्रनाथ मुखर्जी, जो 1915 में ही दे गये होते सम्पूर्ण आज़ादी यदि न हुई होती गद्दारी तो

भारत की आज़ादी की ढोल पीट पीट कर ठेकेदारी तो आप ने बहुत बार सुनी होगी पर हर हर दिन

Read more

31 अगस्त: आज ही अंग्रेजों के बजाय उनके भारतीय गद्दार मुखबिर को जेल में घुस कर मारा था क्रांतिकारियों ने .. एक ऐसा इतिहास जिसे निगल गए नकली कलमकार

स्वाधीनता प्राप्ति के प्रयत्न में लगे क्रांतिकारियों को जहां एक ओर अंग्रेजों ने लड़ना पड़ता था, वहां कभी-कभी उन्हें देशद्रोही

Read more