दुनिया आशिक अहमद को समझती थी कि वो पुलिस की मदद कर रहा, इसलिए वो देशभक्त है.. लेकिन किसी को नहीं पता था कि आगे क्या होने वाला है ?

ट्रक ड्राइवर आशिक अहमद जम्मू कश्मीर में पुलिस की मुखबिरी करता था. सभी उसको देशभक्त समझते थे. पुलिस का मुखबिर

Read more

31 अगस्त: आज ही अंग्रेजों के बजाय उनके भारतीय गद्दार मुखबिर को जेल में घुस कर मारा था क्रांतिकारियों ने .. एक ऐसा इतिहास जिसे निगल गए नकली कलमकार

स्वाधीनता प्राप्ति के प्रयत्न में लगे क्रांतिकारियों को जहां एक ओर अंग्रेजों ने लड़ना पड़ता था, वहां कभी-कभी उन्हें देशद्रोही

Read more