हिन्दू और हिंदुत्व की बातों से “दुखी” हो जाती थी सेकुलर और मॉडर्न लड़की “ख़ुशी” .. उसकी ख़ुशी थी अशरफ शेख में जो बना उनकी मौत भी

वो बेहद आधुनिक ख्यालों की लड़की थी . उसको धर्म आदि की बातों से कोई मतलब नहीं था , वो

Read more

Loading...