23 जुलाई – जन्मदिवस पर नमन है लोकमान्य तिलक जी को जिन्होंने राष्ट्रनीति के साथ धर्म भी निभाया और गरम दल के द्वारा क्रांतिकारियों के बने प्रेरणास्रोत

इन्हें भी भुलाने की कोशिश की गयी क्योकि इन्होने सर सिर्फ गणपति देव के आगे झुकाया .

Read more

23 जुलाई – जन्मदिवस पर नमन है भारत की स्वतंत्रता के असल हक़दार चन्द्रशेखर आज़ाद जी को, जिनकी सटीक मुखबिरी किस ने की इसे जानना चाहता है ये देश

भारत के क्रन्तिपुन्ज का आज है जन्म दिवस .

Read more

19 जून- केवल 12 साल की उम्र में हंसिया ले कर वो लड़ गयी अंग्रेजो की बंदूकों से और फिर अमर हो गयी .. बलिदान दिवस वीर बालिका “कालीबाई’

ये वो रणचंडी थी जिसका नाम तक नहीं लिखा नकली कलमकारों ने .

Read more

19 मई – आज ही जन्म हुआ था गांधी को मारने वाले “नाथूराम गोड्से” का जिनकी अस्थियां आज भी प्रतीक्षा में हैं अखण्ड भारत के

आखिर क्यों मजबूर हुए थे नाथूराम गोडसे ऐसे करने के लिए ?

Read more

7 मई- 1931 में आज ही अमर हुए थे भगत सिंह के साथी जगदीश, ठीक चन्द्रशेखर आज़ाद की तरह लड़ कर लेकिन उनकी तस्वीर तक नही रहने डी आज़ादी के नकली ठेकेदारों ने

जानिये कौन था ये महान योद्धा और क्या थे इनके योगदान

Read more

१ मई- बलिदान दिवस क्रांतिवीर प्र्फुल्ल चाकी. वो महान योद्धा जो अंग्रजो को तो धूल चटा गया लेकिन धोखा खाया घर के ही गद्दारों से

वीरता का वो शक्तिपुंज जिस के नाम से कांपे थे क्रूर अंग्रेज .

Read more

20 अप्रैल- आज ही सर्द हिमांचल से धधक उठी आज़ादी की क्रांति ज्वाला और फूंक दिया गया सोलन का कसौली थाना. नमन कीजिए उन क्रांतिवीरो को

आज के पावन इतिहास को जानिये और गर्व कीजिए अपने गौरवमय इतिहास पर .

Read more

19 अप्रैल- आज राष्ट्र ने खोया था दूसरा खुदीराम बोस जिनका नाम था अनंत लक्ष्मण कन्हेरे. वो योद्धा जो जैक्सन को मार कर 19 साल में ही अमर हो गया

चाटुकार और झोलाछाप इतिहासकारों का अक्षम्य कृत्य इनके इतिहास को आगे नहीं आने दिया .

Read more

30 मार्च- आज जेनेवा की भूमि पर प्राण त्यागे थे क्रांतिदूत श्यामजी कृष्ण वर्मा ने जिनके अस्थिकलश को 73 साल बाद भारत लाये थे श्री नरेंद्र मोदी

एक ऐसे क्रांतिदूत के बारे में जानें जिसके बलिदान को सम्मान सिर्फ मोदी ने दिया था .

Read more

28 मार्च- आज अमरता को प्राप्त हुए थे दो भाई नीलाम्बर- पीताम्बर ब्रिटिश सत्ता से लड़ कर. क्या आप जानते थे इन्हें ? यदि नही तो क्यों नहीं ?

आज़ादी के नक्षत्रों के साथ किया है अन्याय झोलाछाप इतिहासकारों ने .

Read more