10 मई – वो पावन दिन जब मेरठ से शुरू हुआ था 1857 का स्वतंत्रता संग्राम ..खुद अंग्रेजों ने लिखा है कि – “क्रांति के मुखिया बहादुरशाह जफर की जगह तात्या टोपे होते तो हम हार जाते”

देश के अंदर रह कर आज़ादी के नारे लगाने वाले ये वही गद्दार हैं जिनके पुरखों ने तब गद्दारी की

Read more

27 अप्रैल – वो दिन जब मणिपुर में अनगिनत बलिदान देने के बाद भी हमारे हाथ से निकल गया था “कांगला का किला”. जंग थी 1857 की

इस इतिहास को बताते तो शायद उनके तथाकथित आका नाराज होते . यद्दपि कलम भी हिलने लगती क्योकि उन्हें सच

Read more

23 अप्रैल- अंग्रेजो के खिलाफ एक और बागवत हिन्दुस्तानी सैनिको की हुई थी आज पेशावर में जब वीर “चन्द्रसिंह गढ़वाली” के आदेश पर राष्ट्रभक्त सैनिको ने रख दिए हथियार

इतिहास के वो नाम जिनको जान बूझ कर गुमनाम किया गया है , उन नामो में से एक नाम है

Read more

16 अप्रैल: बलिदान दिवस पर नमन है 1857 की क्रांति के महानायक विश्वनाथ शाहदेव जी को.. वो योद्धा जो रियासत का राज छोड़ युद्ध किये और प्राप्त की अमरता

ये झोलाछाप इतिहासकारों का पाप ही कहा जाएगा जिन्होंने हमे जानने ही नहीं दिया कि हमारे लिए किस ने त्याग

Read more

अकेले मंगल पाण्डेय ही नहीं , एक और सैनिक उसी समय चढ़ा था फांसी.. लेकिन वो दूसरा नाम मिटा दिया नकली कलमकारों ने

१८५७ की क्रान्ति के उद्घोष में जहाँ मंगल पाण्डेय ने ब्रिटिश सत्ता को हिला दी थी लेकिन उसी समय एक

Read more

बलिदान दिवस विशेष- मंगल पाण्डेय के खिलाफ अंग्रेजो को नहीं मिल रहे थे गवाह.. तभी सामने आया गद्दार “पल्टू शेख” और वही बना फांसी का जिम्मेदार

हिन्दुओ के खिलाफ फिल्मो के उस्ताद आमिर खान ने भी ये सच अपनी फिल्म मंगल पाण्डेय द राइजिंग में छिपा

Read more

17 फरवरी- आज़ादी की नींव के पत्थर वासुदेव बलवंत फड़के ने आज ही प्राप्त की थी अमरता. वो महायोद्धा जो आज भी दूर है इतिहास के स्वर्णिम पन्नों से

कुछ चाटुकार इतिहासकारों के षडयंत्र के कारण भुला दिए गए अनंत अमर बलिदानियों में से एक श्री वासुदेव बलवंत फड़के

Read more

नेताजी सुभाषचंद्र बोस की जयंती पर 1857 के बलिदानियों को मिलेगा सम्मान.. इन भूले बिसरे पन्नो को पलटने वाले राजनेता हैं नरेंद्र मोदी

1857 का स्वतंत्रता संग्राम कुछ कलमकारों के साथ साथ तमाम नेताओ के लिए याद करना तो दूर चर्चा का भी

Read more

18 जनवरी – 1857 के 18 क्रांतिवीरों ने आज ही रायपुर में काट लिया था अत्याचारी मेज़र सिडवेल का सिर, जिनके मुखिया थे हनुमान सिंह.. इन सबको बाद में उड़ा दिया गया तोप से

नकली कलमकारों की साजिश के शिकार गुमनाम बलिदानियों की जिस गौरवगाथा को सुदर्शन न्यूज हर दिन आपके सामने लाता है

Read more

9 जनवरी- बलिदान दिवस, राजा नाहर सिंह..1857 के इस क्रांतिवीर ने अंतिम इच्छा में “अंग्रेजों का नाश” मांगा था. गिरफ्तारी में गद्दारी थी इलाहीबख्स की

आजादी के गौरवशाली इतिहास के असल पन्ने वो नहीं जो हमें पढ़ाये या कहा जाय तो रटाये जा रहे हैं..

Read more