Breaking News:

भारत को बांट कर लाखों हिंदुओं के नरसंहार का दोषी मोहम्मद अली जिन्ना घोषित हुआ कांग्रेस के परिवार का..बताया कि -“विकास में है उसका योगदान”

ये वोट बैंक का लालच ही तो कहा जायेगा अन्यथा भारत भूमि के विभाजन के मुख्य गुनहगार और आज तक

Read more

कश्मीर ही नहीं असम की समस्या के जड़ में हैं नेहरु. जानिए वो संधि , जिसके बाद असम बन गया बंगलादेशी आक्रान्ताओं का ठिकाना

यकीनन आप इस संधि के बारे में नहीं जानते होंगे . जानेगे भी कैसे जब इसको बताया ही नहीं गया.

Read more

4 मार्च- गांधी के असहयोग आंदोलन से जुड़े 70 देशभक्तों का आज गुरुद्वारे में हुआ था नरसंहार.. उन 70 बलिदानियों का इतिहास में नाम क्यों नहीं ?

क्या देशभक्ति को भी 2 तराजू से तौला जा सकता हूं, क्या राष्ट्र प्रेम का भी कोई पैमाना हो सकता

Read more

1 मार्च- बलिदान दिवस क्रांतिवीर गोपीमोहन साहा. फांसी के बाद इनका शव तक लेने नहीं गये अहिंसा के कथित पुजारी, पहुचे थे तो सिर्फ सुभाषचंद्र बोस

वो शव लेने आज़ादी के नकली ठेकेदार भी जा सकते थे लेकिन वो नही गये क्योकि उनके हाथ से एक

Read more

भगत सिंह की फांसी रोकने के लिए बहुत कोशिश की थी सुभाषचंद्र बोस जी ने.. पर कोई था जो उनका साथ नही दिया

बहुत कम लोग ही जानते होंगे ये पूरा इतिहास, शायद ही कोई जान पाया हो कि भगत सिंह के बलिदान

Read more

“नहीं बन सकता गौ हत्या प्रतिबन्ध क़ानून, जो हिन्दू मानते हैं वो सब माने ये जरूरी नहीं”. पहली बार ये शब्द कहने वाले गांधी थे

आज अगर सरकार पर विपक्ष हमलावर है तो वो कहीं न कहीं गाय से जुड़ा है . बीच में गौ

Read more

7 अगस्त- 1952 में आज ही श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी ने लोकसभा में नेहरू को बता दिया था कश्मीर का वो भविष्य जिसे आज प्रत्यक्ष देख रहा है संसार

जानिये ऐसा क्या कहा था श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने .

Read more

6 जुलाई – जन्मदिवस कश्मीर के रक्षक श्यामा प्रसाद मुखर्जी. उनके ही दम पर आज गगनभेदी नारे गूंजते हैं – ‘जहाँ हुए बलिदान मुखर्जी”.

आज जन्म हुआ था महान श्यामा प्रसाद मुखर्जी का .

Read more

बेलगाम हो चुके कांग्रेसी नेता सैफुद्दीन के निशाने पर अब कांग्रेस की ही नींव के पत्थर सरदार बल्ल्भ भाई पटेल

उस महान नेता पर ऊँगली उठाई जिसने भारत को बनाये रखा अखंड .

Read more

23 जून- बलिदान दिवस कश्मीर के रक्षक श्यामा प्रसाद मुखर्जी.. उनके ही दम पर आज गगनभेदी नारे गूंजते हैं – ‘जहाँ हुए बलिदान मुखर्जी”. पर उनकी मृत्य आज भी रहस्य क्यों ?

जानिये उस महान आत्मा के त्याग और बलिदान की कहानी .

Read more

Loading...