हिन्दू नववर्ष पूर्वसंध्या पर नमन है धर्मवीर सम्भाजी महराज को जिन्हें टुकड़ों में काटा गया मुसलमान बनाने के लिए. मौत हार गयी पर वो नहीं

ये दोष उन चाटुकार इतिहासकार और झोलाछाप कलमकारों का है जो आक्रांता औरंगजेब के गुणगान गाते रहे और धर्म रक्षक

Read more