Breaking News:

हर क्षेत्र लडकियों का बोलबाला.

आज हर क्षेत्र लडकियों का बोलबाला है, एक ऐसा ही किस्सा हैं साक्षी मालिक, और बबिता कुमारी का। अगर उनके माता-पिता ने उन्हें कुश्ती के मैदान में कुश्ती करने नहीं भेजा होता तो आज भारत को अनमोल रत्न नहीं मिल पाते। हम लड़कियों के लिए आस्मां भी कम है अगर हमे उड़ने का मौका दिया जाए तो।

आपको बता दे कि लड़कियां हर क्षेत्र में लड़कों से कंधे से कंधा मिलाकर चल रही है। क्षेत्र चाहे कोई भी हो- डॉक्टर, इंजिनीयर, टीचर, पायलट, एक्टर, स्टंट वुमन, आज लड़कियां पेन से लेकर प्लेन तक चलाना जान चुकी है। खेल कूद में भी अब लड़कियां पीछे नहीं है, फिर चाहे वो कुश्ती ही क्यों ना हो।

इस साल भारत को सारी की सारी लड़कियां मिली है जो कुश्ती में लडको से ज्यादा दम रखती है। जैसे हमारी शाक्षी मालिक जिन्होंने ओलम्पिक्स में कांस पदक जीत कर देश का सर ऊंचा किया, विनेश फोगाट, बबिता कुमारी जिसने ओलम्पिक्स में सिल्वर मेडल पाया था इनके जैसे और भी कई नाम है। फिल्ड चाहे जो हो, आज पेरेंट्स लड़कियों को कामयाब होने से नहीं रोकते हैं। पेरेंट्स उनका साथ देते हैं और हौसला बढ़ाकर उन्हें आगे बढ़ने के प्रेरणा देते हैं।

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW