बढ़ती स्पीड से घटती जा रही है जिंदगियां…

ट्रैफिक की समस्या कम होने का नाम ही नहीं ले रही है आए दिन इसकी वजह से कोई न कोई दुर्घटना होती ही रहती है। बात करें आकड़ों की तो बरेली पुलिस के मुताबिक, सन 2016 में एक्सीडेंट में मरने वालों की संख्या एक महीने में 250 के पार कर जाती है, जिसमें 103 वाहनों के ड्राइवर्स हैं, 134 पैसेंजर्स, और इनमें से 23 महिलाएं पैसेंजर्स भी शामिल हैं। 
ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि ड्राईवर के शराब पीकर और गाड़ी की तेज रफ़्तार की वजह से ये हादसे होते हैं, सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि सड़क की ख़राब दशा भी खतरनाक साबित हो रही है और ज्यादा तर इसमें युवा ही मर रहे है। आकड़ो के मुताबिक, हादसों में महिलाओं के मुकाबले पुरुषों की मौत ज्यादा हुई है। 
यही वजह है कि रोड एक्सीडेंट्स में ऐसे लोगों की तादाद कम दर्ज की गई। वर्ष 2016 में हुए एक्सीडेंट्स में ज्यादातर 45 से 60 की उम्र के लोग शामिल है। इसके अलावा मरने वाले पैसेंजर्स की संख्या हफ्ते में 30 रही है, जिनमें 8 महिलाएं हैं। आखिर कब तक इस तरह की घटनायें होती रहेगी, ये सब न हो इसके लिए हमे सावधानी बरतनी होगी और ट्रैफिक के नियमों का पालन करना होगा, ताकि इस तरह की दुर्घटनाओं से बचा जा सके। 
Share This Post